विविध

ज्ञान दर्पण पर विविध विषयों के सभी लेख यहाँ है
1-भारत की सुरक्षा के सूत्र
2-हिंदी पर बंदिश लगाने वाले आज सीख रहे हैं हिंदी
3-जौहर और शाका
4-कांग्रेसी,कामरेड तंग करते है,बीजेपी अनाज नही होने देती
5- दिल्ली से वीरता पुरुस्कार और गांव में दुत्कार
6-फेल होने वाले छात्रों का क्या दोष ?
7-कुछ मजेदार परिभाषाएं
8-ब्लॉग पढने के फायदे
9-मै हूँ नेता तेरे देश का
10-मौत की तारीख़ बताये वेबसाइट
11-जोधपुर के मिर्ची बड़े और सेव बेर
12-दिल्ली से वीरता पुरुस्कार और गांव में दुत्कार
27-स्व.पु.श्री तनसिंहजी द्वारा लिखित पुस्तकें
28- स्व.पु.श्री तनसिंह जी:परिचय
29-धरती का बीच(सेंटर पॉइंट)
30-बातां की ब्यालू (बातों ही बातों में डिनर)
31-ताऊ का कप टेढा
32-ताऊ और सेठ की कलम
33-हट जा ताऊ पाछे ने
34-एक कवि ने अपने नौकर को अमर किया
35-कुछ स्क्रब पाकिस्तान से ..
36-क्या पता कल हो ना हो
37-कुछ राजस्थानी कहावतें हिंदी व्याख्या सहित
38-कवि कृपाराम जी और " राजिया के दोहे"
39-राजिया रा सौरठा -1
40-शेखावाटी की धमाल

41-पगड़ी को भैंस खा गई
42-राजिया रा सौरठा -2
43-राजिया रा सौरठा - 3
44-राजिया रा सौरठा -4
45-राजिया रा सौरठा -5
46-राजिया रा सौरठा -6
47-राजिया रा सौरठा-7
48-राजिया रा सौरठा-8
49-राजिया रा सौरठा-9
50-राजिया रा सौरठा -१० अंतिम भाग
51-जहाँ मन्नत मांगी जाती है मोटरसाईकिल से
52-जब नेट्वर्किंग का होगा जमाना
53-देवताओं की साल व वीरों का दालान (मंडोर-जोधपुर)
54-ताऊ ने बनाया कुल्हाड़ी का हलवा
55-ताऊ ने पीना छोड़ा
56-आज पनीर नहीं है , दाल में ही खुश रहो
57-गुलाल : एक गैरजिम्मेदार फिल्म
58-एक आदर्श शहरी सार्वजनिक परिवहन प्रणाली
59-टका वाळी रौ ई खुणखुणियौ बाजसी
60-सत्य मेव जयते

61-एक अदभुत उपहार
62-जन-आस्था का केंद्र :जीण माता मंदिर धाम
63-सुधर जा वरना अठन्नी कर दूंगा
64-स्व.कन्हैयालाल सेठिया की कालजयी रचना " जलम भोम " (जन्म भूमि)
65-बिरखा बिंनणी ( वर्षा वधू )
66-ताऊ और एक करोड़ की लाटरी
67-आज शंख नहीं लट्ठ बजाओ : बाबा ताऊआनंद
68-तुम सब जानती व्यथा हमारी किसको पुकारें माँ
69-दुकान पर छाया में जाना व छाया में ही आना
70-राजस्थान की फड परम्परा
71-ऋषि पराशर की तपोभूमि : फरीदाबाद
72-धरती का सुहाग
73-क्या मृत्यु समय का मृत्युपूर्व पूर्वाभास होता है ?...
74-चाँद फिर निकला
75-काश उन मामलों को मै ऐसे निपटाता !
76-चेतावनी रा चुंग्ट्या : कवि की कविता की ताकत
77-हिंदी उपन्यास "सात समन्दर पार" : समीक्षा
78-मैनेजर ताऊ और तीन लिफाफे
79-हूँ मर ज्या सूं जद थारौ कांई हुसी :ताऊ बुझागर
80-ताऊ और समधन : नहले पर दहला

81-ताऊ ने खोली गांव में स्कूल
82-कैसे बचे ईमानदारी ?
83-
84-हाथ लुळीयौ जकौ ई आछौ = हाथ झुका वही बहुत
85-अब घर में ही घोटो और पीवो
86-ढाणी
87-

88-क्या मृत्यु समय का मृत्युपूर्व पूर्वाभास होता है ?...
89-लाइफ शादी के पहले और शादी के बाद
90-चलता फिरता मोबाइल डी. जे. ( संगीत यंत्र )
91-इन्टरनेट खरीददारी के लिए छूट कूपन कैसे तलाश करें ?
92-एक्यूप्रेशर चिकित्सा पद्दति
93-एलोवेरा (ग्वार पाठा )
94-"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक
95-गांव का छोरा इटली के अख़बारों में
96-वेब होस्टिंग व्यवसाय
97-वेब होस्टिंग व्यवसाय कैसे शुरू करें ?
98-स्थानीय ग्रामीण ही बचा सकतें है बाघ
99-बैटरी से चलने वाले रिक्शा
100-फैशन में धोती, कुरता और पगड़ी

101-आईये हिंदी चिट्ठों पर पाठक बढ़ाएं
102-स्वास्थ्यवर्धक बेल का शरबत |
103-सस्ता इलाज |
104-पारम्परिक हड्डी रोग विशेषज्ञ |
105-वो बूढी जाटणी दादी |
106-विलुप्त प्राय: ग्रामीण खेल : झुरनी डंडा |
107-राजस्थान की शाही हेरिटेज शराब |
108-हमारी साझा संस्कृति में दलित सम्मान |
109-ग्लोबल होता राजस्थानी साफा |
110-पहेली से परेशान राजा और बुद्धिमान ताऊ |
111-महामहिम राष्ट्रपति जी के जन्म दिन समारोह में
112-मित्र के विरह में कवि और विरह दोहे
113-स्वास्थ्य-वर्धक हल्दी की सब्जी : बनाने की विधि
114-एलोवेरा (गवार पाठा) की सब्जी
115-उजळी और जेठवै की प्रेम कहानी और उजळी द्वारा बनाये विरह के दोहे
116-उजळी और जेठवै की प्रेम कहानी और उजळी द्वारा बनाये विरह के दोहे-2
117-उजळी और जेठवै की प्रेम कहानी और उजळी द्वारा बनाये विरह के दोहे-3
118-पीछोला (मर्सिया) Elegy |
119-पीछोला (मरसिया)Elegy-2 |
120-हाड़ी रानी :मन्ना डे द्वारा गायी कविता का वीडियो |

121-बत्तीस लक्षणी औरत |
122-चतुर नार |
123-संगत का असर |
124-देर है अंधेर नहीं |
125-बलात्कार के बाद का बलात्कार |
126-भूतों की भूतनी |
127-निर्भीक कवि वीरदास चारण (रंगरेलो) और उनकी रचना "जेसलमेर रो जस " |
128-अक्ल की पौशाक |
129-जैसी करनी वैसी भरनी |
130-कितने जगमाल ? |
131-नालायक |
132-खुदाय बावळी : कहानी|
133-इसलिए बस मेरे शहर चली आई|
134-खींवा और बींजा : दो नामी चोर - भाग-1 |
135-खींवा और बींजा : दो नामी चोर - भाग-2 |
136-बांका पग बाई पद्मा रा |
137-चोर की चतुराई, भाग-1: राजस्थानी कहानी|
138-चोर की चतुराई : राजस्थानी कहानी, भाग- 2.
139-औरत होने का अहसास |
140-कपड़ा छपाई तकनीक का सफ़र
141-खांडा विवाह परम्परा (तलवार के साथ विवाह)
142-कविता की करामात
143-भक्तों की मनसा पूर्ण करती - मनसा माता
144-कपडा रंगाई तकनीक का सफ़र
145-नहीं बदलते राजपूत समाज में महिलाओं के सरनेम
146-जानते है बाढ़ की भूमि किसे कहते है ?
147-क्या आपने सुना है "लोटा विवाह परम्परा" के बारे में ?
148-वाह री ! मोबाइल पोर्टिबिलिटी


149-क्यों सिकुड़ते है धुलने के बाद नए कपड़े ?
150-तुम मर्द भी ना कभी नहीं जीतने दोगे मुझे
151-ज्योतिष : एक अनुभव
152-लादड्या में रहणों है तो जै ठाकुर जी की कैणी पड्सी
153-बनिये की राम राम और मिस्ड कॉल
154-कुछ काम भी तो नहीं करती !
155-1952 के चुनाव प्रचार की एक झलक
156-तुम मर्द भी ना कभी नहीं जीतने दोगे मुझे
157-ताऊ टी वी का "पति पीटो रियलिटी शो": ताऊ पर बरसे ताई के लट्ठ
158-भूतों से सामना
159-कुछ किस्से गांव के भोले भाले ताऊओं के
160-लेखा जोखा ज्यों का त्यों, फिर कुनबा डूबा क्यों ?
161-किया ! पर करना नहीं जाना : कहानी
162-बुरे का फल बुरा ही मिलता है : कहानी
163-चौबोली : कहानी
164-चौबोली - भाग २ : कहानी
165-चौबोली - भाग 3 : कहानी
166-चौबोली -भाग ४ (अंतिम) : कहानी
167-कृषि : फायदेमंद नहीं रही प्याज की खेती
168-राजस्थान : जातिवादी तत्वों के मुंह पर एक करारा तमाचा
169-जातिवादी के दंश ने डसा एक लाचार गरीब परिवार को : फेसबुक मुहीम बनी मददगार
170-अक्ल बहादुर : लोक कथा
171-भाग्य में जो लिखा वो मिला : कहानी
172-भाग्य में जो लिखा वो मिला -2 : कहानी
173-ज्ञान दर्पण पर "चमत्कारी बुलेट बाबा" (ओम बना) की मेहरबानी
174-क्यों सिकुड़ते है धुलने के बाद नए कपड़े ?
175-गीदड़ों वाला तालाब
176-जलाल - बूबना : प्रेम कहानी
177-कवि ने सिर तुड़वाया पर सम्मान नहीं खोया
178-शादी में सात की जगह चार फेरों की परम्परा
179-आधुनिक फैशन पर भारी एक पारंपरिक महिला परिधान
180-आखिर क्यों भारी है फैशन की दुनियां पर “राजपूती पारंपरिक पौशाकें” ?
181-"जेल-डायरी" तिहाड़ से काबुल-कंधार तक : शेर सिंह राणा
182-मिलजुलकर कृषि कार्य और उल्लास रूपी दावत
183-कहाँ से आता था राजाओं के पास इतना धन ?
184-सत्ता पर सेठों (व्यापारियों) का प्रभाव तब और अब
185-अपने अतीत और जड़ों से जुड़ने की हसरत और कामयाबी
186-सच का सामना
187-अदम्य योद्धा महाराव शेखाजी : पुस्तक समीक्षा
188-नाम पट्ट को तरसता एक प्राचीन मंदिर
189-पाक को देना होगा उसी की भाषा में जबाब
190-उद्वेलित होने से पहले अन्दर झांके
191-पुलिस की व्यथा
192-जिन्हें सामाजिक सरोकार नहीं उन अख़बारों का करें बहिष्कार
194-आदर के बदले मिलता है आदर
195-ज्ञान दर्पण पर उठी आवाज केंद्र के कानों तक
196-खीरां आई खिचड़ी टिल्लो आयो टच
197-कहानी एक राजपूतानी की....
198-दिल्ली के चर्चित घृणित एवं वीभत्स कांड से सबक लेना...
199- हुंकार की कलंगी : लोक कथा
200- कोई कम ना समझे प्याज को
201- बदहाल लोकतंत्र : जिम्मेदार कौन ?
202- राजस्थान की प्रेम कहानियां
203- ब्लॉगर ताऊ और यमराज
204- ठाकुर साहब की अकड़ और मूंछ की मरोड़ का राज
205- निबटने (शौच जाने) का खर्च खाता
206- मौके पर नहीं तो कब ?
207- डॉग एक्सपेंसेज अकाउंट (कुत्ता खर्च खाता)
208- आदर पाने की पात्रता
209- जातिप्रथा को कोसने का झूँठा ढकोसला क्यों ?
210- गीदड़ और उसका लाइसेंस
211- राजस्थान के सूखे मेवे : केर, सांगरी, कुमटिया
212- जब खुद की कोहनी पर चोट लगे
213- अब छलावा लगने लगा है केजरीवाल का संघर्ष
214- पुरुष सत्ता : हकीकत कुछ और
215- क्या पारम्परिक परिधान रूढ़ीवाद व पिछड़ेपन की निशानी है ?
216- बेचारा बाप
217- क्या ये नव सामंतवाद नहीं ??
218- कट्टरवाद : यत्र तत्र सर्वत्र
219- एक श्रमिक हड़ताल ~ ज्ञान दर्पण
220- इंटरनेट खरीददारी : छूट कूपन का लाभ उठायें
221- शेखावाटी की भागीरथी - काटली नदी
222- क्या है जोधा अकबर सीरियल विवाद ?
223- मोदी पर सटीक बैठती है ये राजस्थानी कहावत
224- जान - चढण को बखत (बारात रवाना होने का वक्त)
225- सामंतवाद : आलोचना का असर कहाँ ?
226- प्रदूषण का बढ़ता दायरा और भोजन में घुलता जहर

व्यंग्य

1-खूंटी पर विचारधारा
2-एक पत्र आरक्षण पीड़ित सामान्य वर्ग के नाम
3-एक वोटर का पत्र : सेकुलर नेता जी के नाम
4-पंडित जी और सरकार में समानता
5-कैसे और क्यों बदले राजनैतिक दल ?
6-“उसके उड़ाये कौवे कभी डाल पर ना बैठे” : कहावत
7-वालमार्ट हो या लाला जी, उपभोक्ता को तो लुटना ही है !
8-पुरानी के बावजूद क्यों खुश है नेता जी ?
9-नेताजी की बेफिक्री का राज
10-कैटल क्लास : यत्र तत्र सर्वत्र 11-बाल विवाह पर एक व्यंग्य वार्ता
12-एक पत्र दिल्ली पुलिस के नाम
13-जब फेसबुक मय होगा ज़माना
14-पितृ सत्ता धोखा है धक्का...
15-उद्वेलित आन्दोलनकारी और आन्दोलन
16- एक आतंकी की फांसी के बहाने
17- घूरने के खिलाफ कठोर कानून के बाद
18- अनशन वीरों के लिए काम का नुस्खा
19- जब भ्रष्टाचार बनेगा गरीबी मिटाने का औजार
20- आज तक कोई मामू बचा है भांजों से ?
22- अनशन वीरों के लिए काम का नुस्खा

शख्सियत परिचय

1-डा.लक्ष्मण सिंह राठौड़
2-कर्नल नाथूसिंह शेखावत
loading...
Share on Google Plus

About Ratan singh shekhawat

Ratan Singh Shekhawat, Bhagatpura, Rajasthan.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

8 comments:

  1. आपका बहुत आभार सभी पोस्ट की जानकारी एक साथ देने के लिये.

    रामराम.

    ReplyDelete
  2. चलो इंडेक्सिंग हो गई. अब यहाँ से जब चाहो पीछे आसानी से जा सकते है. आभार.

    ReplyDelete
  3. ये भी अच्छा काम किया..

    ReplyDelete
  4. आप ने तो गागर मै सागर ही भर दिया.
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  5. aaj aapka aadhe se jyada blog padh dala

    ReplyDelete
  6. हर इन्सान ख़बर में जीता है । उसके चारो तरफ अलग अलग तरीके की खबरों की लाइन लगी रहती है । आप इन्टरनेट सेवी है तो आप हमें मेल और फ़ोन पर अपनी ख़बर साक्षात्कार.कॉम के लिए दर्ज करा सकते है । आप घर बैठे ऑनलाइन पत्रकार भी बन सकते है । इसके लिए सीधा तरीका है आप हमें अपना बायोडाटा और पिक्चर भेज दे। आप हमें दिन में कम से कम दो ख़बर तो अपने शहर की ऑनलाइन भेज सकते है । अगर आप अपना नाम गुप्त रखना चाहते है तो आपका नाम गुप्त रखा जायेगा ।

    आधिक जानकारी के लिए -
    सुशील गंगवार
    फ़ोन - ०९९९०९९३३३६
    सुशील_गंगवार@रेदिफ्फ्मैल.कॉम

    ReplyDelete
  7. धन्यवाद इस जानकारी के लिए
    नववर्ष की हार्दिक बधाई।।।

    ReplyDelete