कुछ स्क्रब पाकिस्तान से ..

ऑरकुट पर मुझे एक पाकिस्तानी दोस्त कँवलजीत सिंह सोढा से भी अक्सर स्क्रब मिलती रहती है | कंवलजीत सिंह सोढा पाकिस्तान के अमरकोट के रहने वाले है और मेरा उनसे परिचय ऑरकुट पर ही हुआ है प्रस्तुत है उनके द्वारा भेजी गई कुछ स्क्रब ..

मैने खुदा से पू खूबसूरतीछा कि क्या है?
तो वो बोले ::::
खूबसूरत है वो लब जिन पर दूसरों के लिए एक दुआ है
खूबसूरत है वो मुस्कान जो दूसरों की खुशी देख कर खिल जाए
खूबसूरत है वो दिल जो किसी के दुख मे शामिल हो जाए और किसी के प्यार के रंग मे रंग जाए
खूबसूरत है वो जज़बात जो दूसरो की भावनाओं को समझे
खूबसूरत है वो एहसास जिस मे प्यार की मिठास हो
खूबसूरत है वो बातें जिनमे शामिल हों दोस्ती और प्यार की किस्से कहानियाँ
खूबसूरत है वो आँखे जिनमे कितने खूबसूरत ख्वाब समा जाएँ
खूबसूरत है वो आसूँ जो किसी के ग़म मे बह जाएँ
खूबसूरत है वो हाथ जो किसी के लिए मुश्किल के वक्त सहारा बन जाए
खूबसूरत है वो कदम जो अमन और शान्ति का रास्ता तय कर जाएँ
खूबसूरत है वो सोच जिस मे पूरी दुनिया की भलाई का ख्याल

D se dosti,
D se dushmani,
D se dil,
D se dard,
D se dillagi,
D se deewangi,
But...........
D se itna bhi door na ho jana ke
H se Hamara saath hi chhut jaye.

Sawaal paani ka nahin, pyaas ka hai.
Sawaal maut ka nahin, saans ka hai.
Dost to duniya mein bahut hai magar,
Sawaal dosti ka nahin VISHWAS

और उन्ही के द्वारा भेजी गई दूसरी स्क्रब

एक बार एक लड़का था ! जो एक लड़की को अपनी जान से भी ज्यादा प्यार करता था ! उसके परिवार वालो ने भी उसका कभी साथ नहीं दिया ,फिर भी वो उस लड़की को प्यार करता रहा लेकिन लड़की कुछ देख नहीं सकती थी मतलब अंधी थी ! लड़की हमेशा लड़के से कहती रहती थी की तुम मुझे इतना प्यार क्यूँ करते हो !में तुम्हारे किसी काम नहीं आ सकती में तुम्हे वो प्यार नहीं दे सकती जो कोई और देगा लेकिन वो लड़का उसे हमेशा दिलाषा देता रहता की तुम ठीक हो जोगी तुम्ही मेरा पहला प्यार हो और रहोगी फिर कुछ साल ये सिलसिला चलता रहता है लड़का अपने पैसे से लड़की का ऑपरेशन करवाता है लड़की ऑपरेशन के बाद अब सब कुछ देख सब
सकती थी लेकिन उससे पता चलता है की लड़का भी अँधा था तब लड़की कहती है की में तुमसे प्यार नहीं कर सकती तुम तोह अंधे हो.में किसी अंधे आदमी को अपना जीवन साथी चुन सकती तुम्हारे साथ मेरा कोई future नहीं है ..तब लड़का मुस्कुराता है औरजाने लगता है और उसके आखिरी बोल होते है take care of my eyes.
this is a real love
pass this 2 all of your friends if u believe in love& love sum1
loading...
Share on Google Plus

About Ratan singh shekhawat

Ratan Singh Shekhawat, Bhagatpura, Rajasthan.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

11 comments:

  1. क्या कहानी है..वाकई.. कुछ मिलने पर भूल जाते है.. आये कहां से...

    ReplyDelete
  2. अत्यन्त मार्मिक कहानी है। मेरी तो ऑंखें नम हो गयीं।

    ReplyDelete
  3. haan is tarah ke scrap milte rahte hain forward karne ke liye orkut par ....

    ReplyDelete
  4. pyaar to andha hota hi hai..waise bhi!! (ham nahi kahte, buzurg kahte hain)

    ReplyDelete
  5. pakistani gaer muslim dard ke siva likh bhi kya sakta hae

    ReplyDelete
  6. बहुत बधाई इस के लिये.

    रामराम.

    ReplyDelete
  7. सुन्दर, मार्मिक, बढ़िया, हृदयस्पर्शी

    ReplyDelete
  8. सुंदर और मार्मिक ... मैंने कुछ और उन मित्रों को, आपके ब्लॉग लिंक सहित, ईमेल की है जो ब्लॉगर नहीं हैं / अभी ब्लोग्ज़ नहीं पढ़ते.

    ReplyDelete
  9. DHIRU JISKO TO MUSLIM KEH RAHA HAI WO RAJPUT HAI. SODHA

    ReplyDelete
  10. nice bahut khubsurat kahani hai.....

    ReplyDelete