भारत की सुरक्षा के सूत्र

आज HI5.com खाते में एक मेसेज मिला जो यहाँ पोस्ट कर रहा हूँ

भारत की सुरक्षा के सूत्र
1. भारत में कोई भी व्यक्ति या समुदाय किसी भी स्थिति में जाति, धर्म,भाषा,क्षेत्र के आधार पर बात करे उसका बहिष्कार कीजिए ।
2. लच्छेदार बातों से गुमराह न हों ।
3.कानूनों को जेबी घड़ी बनाके चलने वालों को सबक सिखाएं ख़ुद भी भारत के संविधान का सम्मान करें ।
4. थोथे आत्म प्रचारकों से बचिए ।
5. जो आदर्श नहीं हैं उनका महिमा मंडन तुंरत बंद हो जो भी समुदाय व्यक्ति ऐसा करे उसे सम्मान न दीजिए चाहे वो पिता ही क्यों न हो।
6. ईमानदार लोक सेवकों का सम्मान करें ।
7. भारतीयता को भारतीय नज़रिए से समझें न की विदेशी विचार धाराओं के नज़रिए से ।
8. अंधाधुंध बेलगाम वाकविलास बंद करें ।
9. नकारात्मक ऊर्जा उत्पादन न होनें दें ।
10. देश का खाएं तो देश के वफादार बनें ।
11. किसी भी दशा में हुई एक मौत को सब पर हमला मानें ।
12. देश की आतंरिक बाह्य सुरक्षा को अनावश्यक बहस का मसला न बनाएं प्रेस मीडिया आत्म नियंत्रण रखें ।
13. केन्द्र/राज्य सरकारें आतंक वाद पे लगाम कसने देश में व् देश के बाहर सख्ती बरतें ।
14: वंदे मातरम कहिये
Share on Google Plus

About Gyan Darpan

Ratan Singh Shekhawat, Bhagatpura, Rajasthan.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

8 comments:

  1. बहुत सही और अनुकरणीय !

    रामराम !

    ReplyDelete
  2. इस्लाम का प्रयोग देश के विरुद्ध और अपने उदगम भुमि के पक्ष मे होता आया है। हालांकी भारत के तकरीबन सारे मुसलमानो के पुर्वज हिन्दु हीं थे। अब अगर हम देशभक्त हिन्दु संगठन के बात करने वाले लोगो का भी बहिष्कार करेगे तो प्रकांतर से यह देशभक्त शक्तियो को कमजोर ही करेगा। अतः ऐसे हिन्दु या मुस्लीम संगठन जो देशभक्ति की बात करते है तथा एक दुसरे के प्रति घृणा फैलाने का काम नही करते उनका बहिस्कार नही स्वीकार होना चाहिए। हां कुछ वेटीकन के दलाल जैसे सोनिया, सी.एन.एन-आई.बी.एन, एन.डी.टी.वी, वृन्दा करात एण्ड कम्पनी भारत मे छद्म धर्म निर्पेक्षता की बात कर वस्तुतः हिन्दु-मुस्लीम घृणा फैल्लाने की कोशेस करते है उनसे सावधान भी रहना होगा।

    ReplyDelete
  3. वंदे मातरम्,
    बहुत सही, मज़ा आ गया.

    ReplyDelete
  4. आप की सभी बातें सही है और क़बूल हैं।

    ReplyDelete
  5. वन्दे मातरम...

    ReplyDelete
  6. फिर वोट बैंक , आरक्षण , धर्म आधारित नेतागिरी करने वाले क्या ऐसा होने देंगे ?

    ReplyDelete