राजस्थानी कहावतें हिन्दी व्याख्या सहित -2

राजस्थानी कहावतें हिन्दी व्याख्या सहित -2

घणा बिना धक् जावे पण थोड़ा बिना नीं धकै | अधिक के बिना तो चल सकता है,लेकिन थोड़े के बिना नही चल सकता | मनुष्य के सन्दर्भ में अधिक की तो कोई ...
Read More

जालौर का जौहर और शाका

सोमनाथ मन्दिर को खंडित कर गुजरात से लौटती अलाउद्दीन खिलजी की सेना पर जालौर के शासक कान्हड़ देव चौहा...
Read More
कुछ राजस्थानी कहावतें हिंदी व्याख्या  सहित

कुछ राजस्थानी कहावतें हिंदी व्याख्या सहित

घोड़ा रो रोवणौ नीं,घोड़ा री चाल रौ रोवणौ है |=घोडे का रोना नही घोडे की चाल का रोना है | एक चोर किसी का घोड़ा ले गया | पर घोडे के मालिक को घोड...
Read More

सर प्रताप और जोधपुरी कोट

पिछले लेखों में चर्चा जोधपुर के खानपान के उत्पादों व जोधपुर के राजा रानियों की चल रही थी लेकिन आज एक...
Read More