वेब होस्टिंग व्यवसाय

संचार के बढ़ते साधनों के साथ साथ इन्टरनेट का भी तेजी से प्रसार हो रहा है आज गांवों तक में इंटरनेट दस्तक दे चुकी है | इन्टरनेट के बढ़ते प्रसार को देख हर व्यवसायिक प्रतिष्ठान अपनी वेब साईट बनाकर इन्टरनेट पर अपनी उपस्थिति चाहता है | किसी भी उत्पाद के प्रचार प्रसार के लिए आजकल ज्यादातर उत्पादक इन्टरनेट पर विज्ञापनों का सहारा ले रहे है | व्यासायिक प्रतिष्ठानों के साथ साथ लोगों में अपनी अपनी वेब साईट बनाने का रुझान भी बढ़ता जा रहा | इन्टरनेट पर उपलब्ध फ्री ओपन सोर्स वेब स्क्रिप्ट , फोरम स्क्रिप्ट , ब्लोगिंग स्क्रिप्ट , ई कामर्स वेब स्क्रिप्ट व वेब साईट बनाने वाले ऑनलाइन व ऑफलाइन सोफ्टवेयर्स ने वेब साईट बनाना आसान व सस्ता कर दिया है जिससे वेब साईट्स बनाने के कार्य को और गति मिली है |
जिस तरह से इन्टरनेट पर अपनी अपनी वेब साईट बनाने का रुझान बढ़ा है उसी अनुरूप वेब होस्टिंग सेवा प्रदाताओं का व्यवसाय भी बढ़ा है और आगे भी इसके बढ़ते रहने के भरपूर अवसर है | आज इन्टरनेट पर हजारों वेब साइट्स है जो वेब होस्टिंग का अच्छा व्यवसाय कर रही है |
यह वेब होस्टिंग का व्यवसाय करना कम लागत वाला बहुत आसान है आईये आज इसे कैसे शुरू किया जा सकता है उसके तरीकों पर चर्चा करते है |
१- अपने वेब सर्वर लगाकर – यह तरीका बहुत महंगा है साथ ही इसके लिए पूरी तकनीकी जानकारी की आवश्यकता होती है |
२- वेब सर्वर किराये पर लेकर – ज्यादातर वेब होस्टिंग सेवा प्रदाता इसी तरीके को इस्तेमाल करते है पर इसमें में भी सर्वर का प्रबंधन करने जितनी तकनीकी दक्षता हो होनी ही चाहिए |
३- रीसेलर वेब होस्ट बनकर – यह तरीका सबसे आसान व कम लागत वाला है | इन्टरनेट पर ऐसी बहुत सी वेब साइट्स है जो नया वेब होस्टिंग व्यवसाय शुरू करने वालों को सालाना या मासिक कुछ धन लेकर रीसेलर वेब होस्टिंग की सुविधा देती है |
ऐसी वेब साइट्स से अपनी जरुरत के हिसाब से रीसेलर प्लान खरीदकर आसानी से अपना वेब होस्टिंग व्यवसाय शुरू किया जा सकता है जिसमे तकनीकी ज्ञान की भी ज्यादा आवश्कता नहीं है | way4hostdewlance ऐसी ही रीसेलर सेवा प्रदाता वेब साइट्स है जो नया वेब होस्टिंग व्यवसाय शुरू करने वालों को बहुत सस्ते में रीसेलर पैकज उपलब्ध कराती है | जिनसे सस्ते रीसेलर प्लान लेकर कोई भी बड़ी आसानी व कम लागत (सिर्फ १६००रु. सालाना खर्च ) में वेब होस्टिंग व्यवसाय शुरू कर सकता है |
वेब होस्टिंग व्यवसाय शुरू कैसे किया जाय इसकी चरणबद्ध जानकारी अगली लेख में …

ताऊ उवाच

14 Responses to "वेब होस्टिंग व्यवसाय"

  1. अच्छी जानकारी, अगली कड़ी की प्रतीक्षा रहेगी।

    Reply
  2. dhiru singh {धीरू सिंह}   January 5, 2010 at 4:30 pm

    अपुन तो इस मामले मे अनाडी है . आप से ही सिखेंगे

    Reply
  3. Vivek Rastogi   January 5, 2010 at 4:37 pm

    ये बड़े काम की जानकारी है, इस व्यापार के लिये हम भी सोच रहे हैं पूरी अ आ इ ई उ ऊ पढ़ ली है, अब वापस से आपके ब्लॉग के माध्यम से पढ़ लेते हैं और अपने नये उम्र के बच्चों को भी आपकी लिंक दे देते हैं कि क्ष त्र ज्ञ तक सीख लें।

    Reply
  4. राज भाटिय़ा   January 5, 2010 at 5:48 pm

    बहुत सुंदर जान्कारी दी आप ने

    Reply
  5. कुन्नू सिंह   January 5, 2010 at 9:32 pm

    सहमत हूं।

    वेब होस्टिंग व्यवसाय बहुत तेजी से फैल रहा है। ईसमे जो एक बार जम जाता है वो कम से कम Rs.50000 – 100000 महीना कमा सकता है। मैने कई भारतीय साईट देखें हैं जो शुरू मे एक छोटे से साईट से शुरू हुवें और आज उनके पास 40000 – 50000 क्लाईंट हैं।

    कैसे पता चला? कई साईटें हैं जो बता सकती हैं की पर कितने डोमेन होस्ट हैं लेकीन एक्जेक्ट नही होता है।

    अगले पोस्ट का ईन्तजार रहेगा 🙂

    Reply
  6. Udan Tashtari   January 6, 2010 at 2:20 am

    सही काम की जानकारी…

    ’सकारात्मक सोच के साथ हिन्दी एवं हिन्दी चिट्ठाकारी के प्रचार एवं प्रसार में योगदान दें.’

    -त्रुटियों की तरफ ध्यान दिलाना जरुरी है किन्तु प्रोत्साहन उससे भी अधिक जरुरी है.

    नोबल पुरुस्कार विजेता एन्टोने फ्रान्स का कहना था कि '९०% सीख प्रोत्साहान देता है.'

    कृपया सह-चिट्ठाकारों को प्रोत्साहित करने में न हिचकिचायें.

    -सादर,
    समीर लाल ’समीर’

    Reply
  7. ललित शर्मा   January 6, 2010 at 2:25 am

    उपयोगी जानकारी-आभार

    चर्चा आपकी "चर्चा मंच" पर

    Reply
  8. डॉ. मनोज मिश्र   January 6, 2010 at 3:12 am

    अच्छी जानकारी.

    Reply
  9. ताऊ रामपुरिया   January 6, 2010 at 3:21 am

    बहुत बढिया जानकारी दी आपने.

    रामराम.

    Reply
  10. नरेश सिह राठौङ   January 6, 2010 at 12:10 pm

    आपके द्वारा दी गयी जानकारी भविष्य में बहुत काम आवेगी |

    Reply
  11. मनोज कुमार   January 6, 2010 at 4:26 pm

    अच्छी जानकारी। अगली कड़ी की प्रतीक्षा।

    Reply
  12. HEY PRABHU YEH TERA PATH   January 6, 2010 at 4:57 pm

    अच्छी जानकारी,

    Reply
  13. उपयोगी जानकारी!
    आभार!

    Reply
  14. Adarsh   April 1, 2012 at 10:00 am

    अच्‍छी जानकारी है

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.