राणा संग्रामसिंह (साँगा)

राणा संग्रामसिंह (साँगा)

[ads-post] Rana Sangram Singh, Rana Sanga of Mewar, Rana Sanga History in hindi देख खानवा यहाँ चढ़ी थी राजपूत की त्यौरियाँ । मतवालों की शमसीरों से निकली थी चिनगारियाँ । राणा संग्रामसिंह इतिहास में राणा साँगा के नाम से प्रसिद्ध है। राणा साँगा राणा कुम्भा का पोत्र व राणा रायमल का पुत्र था। इनका जन्म […]

चितौड़ की रानी कर्मवती

चितौड़ की रानी कर्मवती

सभी राजपूत रियासतों को एक झंडे के नीचे लाने वाले महाराणा सांगा Maharana Sanga के निधन के बाद चितौड़ Chittor की गद्दी पर महाराणा रतन सिंह बैठे. राणा रतन सिंह के निधन के बाद उनके भाई विक्रमादित्य चितौड़ के महाराणा बने. विक्रमादित्य ने अपनी सेना में सात हजार पहलवान भर्ती किये. इन्हें जानवरों की लड़ाई, […]

रेल विभाग लगा है राणा सांगा स्मारक हटाने की जुगत में

भारत की स्वतंत्रता के लिए देश के लगभग राजाओं को एक झंडे के नीचे लाकर बाबर से लड़ने वाले राणा सांगा का स्मारक रूपी चबूतरा जहाँ राणा का अंतिम संस्कार किया गया था अब तक उपेक्षित था| स्वतंत्रता और राष्ट्रवाद के प्रतीक राणा के चबूतरे का रख रखाव करने में आजतक ना सरकार ने कोई […]

उपेक्षा का शिकार राणा सांगा स्मारक

उपेक्षा का शिकार राणा सांगा स्मारक

राणा सांगा स्मारक बसवा : अपनी अप्रत्याशित शूरवीरता और संगठन क्षमता के बल पर बाबर की तोपों का तलवारों से मुकाबला कर भारतीय इतिहास में अपना नाम स्वर्ण अक्षरों में लिखवाने में कामयाब रहे मेवाड़ के राणा सांगा का शहादत स्थल और वहां बना उनका स्मारक रूपी चबूतरा आज उनके वंशजों की उदासीनता और सरकार […]