गौरक्षा के लिए औरंगजेब की सेना से भीड़ गए थे अहीर, गुर्जर युवा

गौरक्षा के लिए औरंगजेब की सेना से भीड़ गए थे अहीर, गुर्जर युवा

आजकल गौ तस्करों व गौ हत्यारों के खिलाफ हिन्दू गौ रक्षकों की कार्यवाहियां अख़बारों की सुर्खियाँ बन रही है| एक स्थान से दूसरे स्थान पर गाड़ियों में अवैध रूप से काटने के लिए ले जाई जाने वाली गायों को बचाने के लिए कई स्वप्रेरित युवा संगठनात्मक रूप से जुटे है| गौ-वध व गौ तस्करी शुद्ध […]

क्या बाबर हिंदुस्तान की थाह लेने छद्म वेश में आया था?

क्या बाबर हिंदुस्तान की थाह लेने छद्म वेश में आया था?

बाबर को लगता था कि दिल्ली सल्तनत पर फिर से तैमूरवंशियों का शासन होना चाहिए। एक तैमूरवंशी होने के कारण वो दिल्ली सल्तनत पर कब्ज़ा करना चाहता था। उसने दिल्ली के सुल्तान सुल्तान इब्राहिम लोदी के साथ 1526 में पानीपत में युद्ध किया और दिल्ली की सल्तनत पर कब्ज़ा कर लिया| इसके बाद बाबर ने […]

माण्डण युद्ध : जब राजपूत-जाट सेना के आगे भागी मुगल सेना

माण्डण युद्ध : जब राजपूत-जाट सेना के आगे भागी मुगल सेना

माण्डण युद्ध : अपनी मातृभूमि शेखावाटी-प्रदेश की स्वतंत्रता की रक्षार्थ 6 जून, 1775 ई. को रेवाड़ी के पास माण्डण नामक स्थान पर शेखावतों तथा शाही सेनाधिकारी के बीच एक भयंकर युद्ध हुआ था। जिसमें आक्रान्ता शाही सेनाधिकारी राव मित्रसेन अहीर को पराजित हो युद्धस्थल से भागना पड़ा था और शेखावत पक्ष की विजय हुई| यद्यपि […]

रानी कर्मवती और हुमायूं, राखी प्रकरण का सच

इतिहास में चितौड़ की रानी कर्मवती जिसे कर्णावती भी कहा जाता है द्वारा हुमायूं को राखी भेजने व उस राखी का मान रखने हेतु हुमायूं द्वारा रानी की सहायता की बड़ी बड़ी लिखी हुईं है. इस प्रकरण के बहाने हुमायूं को रिश्ते निभाने वाला इंसान साबित करने की झूंठी चेष्टा की गई| चितौड़ पर गुजरात […]