जातां जुगां न जाय-मेड़तौ

जातां जुगां न जाय-मेड़तौ

राजस्थानी भाषा साहित्य, संस्कृति अकादमी के पूर्व अध्यक्ष सौभाग्यसिंह जी शेखावत की कलम से ……….. सुतंतरता तांई बरोबर दो पीढ़ियां लड़ता-झगड़ता रहबाळा मेड़तिया साखा रा राठौड़ां रौ मूळ स्थान मेड़तौ (Merta City) राजस्थान रै बीचौ बीच मारवाड़ में पडै़ है। मेड़तौ राजस्थान रा घणां पुराणा नगरां में गिणीजै है। बूढ़ा वडेरा कैवै है कै मेड़ता […]