राणा संग्रामसिंह (साँगा)

राणा संग्रामसिंह (साँगा)

[ads-post] Rana Sangram Singh, Rana Sanga of Mewar, Rana Sanga History in hindi देख खानवा यहाँ चढ़ी थी राजपूत की त्यौरियाँ । मतवालों की शमसीरों से निकली थी चिनगारियाँ । राणा संग्रामसिंह इतिहास में राणा साँगा के नाम से प्रसिद्ध है। राणा साँगा राणा कुम्भा का पोत्र व राणा रायमल का पुत्र था। इनका जन्म […]

भारतीय राजाओं को हर बार महंगी पड़ी उदारता

भारतीय राजाओं को हर बार महंगी पड़ी उदारता

भारतीय संस्कृति में प्राचीन काल से ही सहिष्णुता, उदारता, परमार्थ आदि गुणों के लिए प्रसिद्ध रही है| विदेशी आक्रान्ताओं के साथ भी हमारे यहाँ के शासकों ने संस्कृति अनुरूप उचित व्यवहार किया| शत्रु आक्रान्ता भले वह विदेशी हो या देशी, के पकड़े जाने पर कभी भी उसके साथ किसी राजा ने क्रूर व्यवहार नहीं किया| […]