झांसी की रानी लक्ष्मी बाई

सन अट्ठारह सौ पैंतीस में रानी झांसी ने था जन्म लियाभारत की सोई जनता को उसने स्वतंत्रता पाठ पढ़ा दियादिखला दिया उसने फ़िरंगी को, है सिंहनी भारत की नारीजिसे देख के वो तो दंग हुए, पर गद्दारों ने मार दिया अकसर बालक बचपन में हैं खेलते खेल खिलौनों सेपर शुरु से ही इस कन्या ने […]

स्रियों की दशा का उज्जवल पक्ष

– टॉड के अनुसार “”राजस्थान में स्रियों को राजपूतों ने जो सम्मान दिया, वह किसी दूसरे देश में नहीं मिलता। संसार में किसी भी जाति ने स्रियों को उतना आदर नहीं दिया, जितना राजपूतों ने।”राजपूतों ने स्रियों को लक्ष्मी, दुर्गा तथा सरस्वती के रुप में देखा। उस दृष्टि से उनकी पूजा की। यहाँ लोग यह […]