कन्नौज नरेश महाराज जयचंद के प्रति बदलता नजरिया

कन्नौज नरेश महाराज जयचंद के प्रति बदलता नजरिया

इतिहास शुद्धिकरण प्रयास का असर :  कन्नौज नरेश महाराज जयचंद के प्रति बदल रहा नजरिया किसी भी धोखेबाज, देशद्रोही या गद्दार के लिए जयचंद नाम मुहावरे की तरह प्रयोग किया जाता है। साहित्यिक रचनाएँ हो, कवियों की काव्य रचनाएँ हो या देशवासियों के आम बोलचाल की भाषा में धोखेबाज, गद्दार, घर के भेदी, देशद्रोही को […]

कन्नौज नरेश महाराज जयचन्द गहरवाल

jaichand History in Hindi, History of Jaychand gaharwal जयचन्द्र (जयचन्द), महाराज विजयचन्द्र के पुत्र थे। ये कन्नौज के राजा थे। जयचन्द का राज्याभिषेक वि.सं. १२२६ आषाढ शुक्ल ६ (ई.स. ११७० जून) को हुआ। राजा जयचन्द पराक्रमी शासक था। उसकी विशाल सैन्य वाहिनी सदैव विचरण करती रहती थी, इसलिए उसे ‘दळ-पंगुळ’ भी कहा जाता है। इसका […]

गद्दार नहीं धर्मपरायण और देशभक्त राजा थे जयचंद

गद्दार नहीं धर्मपरायण और देशभक्त राजा थे जयचंद

जयचंद का नाम आते ही हर किसी व्यक्ति के मन में एक गद्दार की छवि उभर आती है| यही नहीं जयचंद नाम को गद्दार के पर्यायवाची के रूप में प्रयोग किया जाने लगा है| जबकि जयचंद जिन पर आरोप है कि उन्होंने पृथ्वीराज से बदला लेने के लिए गौरी को बुलाया और उसकी सहायता की| […]