जातिप्रथा को कोसने का झूँठा ढकोसला क्यों ?

ब्लॉग, सोशियल साईटस हो या किसी राजनेता (पक्ष विपक्ष दोनों) का भाषण या फिर किसी चैनल की बहस हो सबमें जातिवाद को पानी पी पी कर कोसा जाता है राजनेता या मिडिया चैनल में बैठी अपने आपको सेकुलर कहने वाली ताकतें बढ़ चढ़ कर जातिवादी व्यवस्था को गरियाती है तो दूसरी और जातिवाद के नाम […]