मिलजुल कर कृषि कार्य करना और ल्हास रूपी दावत का मजा

भारत की समृद्ध भाषाओँ में हर कार्य के लिए अलग-अलग शब्द प्रयुक्त किये गए है। कृषि कार्य में भी किये जाने वाले हर कार्य को अलग-अलग नामों से जाना जाता है जैसे फसल में खड़ी खरपतवार को निकालने के लिए हमारे यहाँ राजस्थान में “निनाण” करना कहते है, फसल में पानी देने को “पाणत”, बाजरे […]