क्या आप भी regsvr.exe वायरस से परेशान है ?

पिछले कई दिनों से regsvr.exe नामक एक वायरस ने कंप्युटर जी की गति धीमी कर दुखी कर रखा था जिसे हटाने के लिए एक के बाद एक कई एंटी वायरस काम लिए लेकिन नतीजा वही ढ़ाक के तीन पात | नोर्टन और McAfee एंटी वायरस भी इस वायरस को हटाना तो दूर पकड़ ही नही […]

राजस्थानी कहावतें हिन्दी व्याख्या सहित -2

घणा बिना धक् जावे पण थोड़ा बिना नीं धकै |अधिक के बिना तो चल सकता है,लेकिन थोड़े के बिना नही चल सकता |मनुष्य के सन्दर्भ में अधिक की तो कोई सीमा नही है – दस,बीस,सौ,हजार,लाख,अरब-खरब भी सीमा का अतिक्रमण नही कर सकते | सामान्य अथवा गरीब व्यक्ति के लिए अधिक धन के बिना तो जीवन […]

पगड़ी को भैंस खा गई

पगड़ी नै भैंस खायगी = पगड़ी को भैंस खा गई | सन्दर्भ कथा :- आज सुबह ताऊ के शनिवारीय खूंटे पर आपने पढ़ा कि कैसे ताऊ ने एक ईमानदार जज से भी हारने वाला केस जीत लिया|आज मै ताऊ के एक ऐसे ही मुकदमे का जिक्र कर रहा हूँ जिसकी सुनवाई करने वाली कचहरी का […]

कुछ राजस्थानी कहावतें हिंदी व्याख्या सहित

घोड़ा रो रोवणौ नीं,घोड़ा री चाल रौ रोवणौ है |=घोडे का रोना नही घोडे की चाल का रोना है | एक चोर किसी का घोड़ा ले गया | पर घोडे के मालिक को घोडे की चिंता नही थी | उसका रोना तो फकत इस बात का था कि अन्भिज्ञ चोर घोडे की चाल बिगाड़ देगा […]

दिल्ली से वीरता पुरुस्कार और गांव में दुत्कार

२३ जनवरी को दिल्ली में वीरता पुरुस्कार पाने वाली आसू कँवर व उसका परिवार पिछले नौ महीने से अपने रिश्तेदारों और समाज से बहिष्कृत है | यही नही उस पर वीरता का पुरुस्कार ना लेने इतना दबाव था कि उसे अपहरण तक की धमकी मिली लेकिन उसने एक बार फ़िर दबंगता दिखाते हुए अपने रिश्तेदारों […]

ब्लॉगजगत से दूर पन्द्रह दिन

पिछले १५ दिन के जोधपुर प्रवास के दौरान ब्लॉगजगत से दूर रहना बड़ा कष्टकारी महसूस हुआ जोधपुर जैसे अच्छे शहर में भी ऐसे लगा मानो घर-परिवार से दूर जंगल में आ गया हूँ बिना इन्टरनेट के एक एक दिन भारी लग रहा था हालाँकि कभी कभार सायबर कैफे जरुर जाना हुआ लेकिन समय की कमी […]

ताऊ और सेठ की कलम

ताऊ और सेठ की कलम

ताऊ- सेठ जी थांरी छुरी निचे पड़गी !सेठ- डोफा आ तो म्हारी कलम है !ताऊ- सेठ जी म्हारे गलै तो आ इज फिरी !एक बनिया बगल में बही दबाये और कान में कलम खोसे हुए , पीली पगड़ी पहने और मुछे नीची किए अपनी दुकान की और जा रहा था ! उसके पीछे एक भुक्त-भोगी […]

हिन्दी लिखने में शर्म क्यों ?

आज से १५ महीने पहले इन्टरनेट कनेक्शन लेने के बाद कुछ वेबसाइट देख मुझे एक कम्युनिटी वेब साईट बनाने की हुड़क लगी लेकिन मुझे इस संबंद में कोई जानकारी नही थी बस अंतरजाल पर सिर्फ़ वेबसाइट खोलना और गूगल सर्च करना ही बच्चों से सीख पाया था और उन्ही की सलाह पर वेबसाइट कैसे बनाई […]

बधाई संदेश-मेल से सावधान !

आपको क्रिसमस और नववर्ष के ढेरों बधाई संदेश और ई-ग्रीटिंग ई-मेल पर प्राप्त हो रहे होंगे ऐसे संदेशों व ग्रीटिंग को स्वीकार करते समय सावधानी बरते और अनजान बधाई संदेशों को स्वीकार करने से परहेज रखें तो ज्यादा अच्छा है हो सकता है इन संदेशों के साथ वायरस हो | और मेल पर क्लिक करते […]

फेल होने वाले छात्रों का क्या दोष ?

फेल होने वाले  छात्रों का  क्या दोष ?

यदि कोई छात्र परीक्षा में फेल होता है तो उसमे उसका क्या दोष ? आख़िर साल में 365 दिन ही तो होते है जो एक शैक्षणिक सत्र के लिए कितने कम होते है? यदि आपको कम नही लगते तो पढ़िये कि कैसे एक छात्र को पढने के लिए तो समय ही नही मिल पाता ? […]