26.6 C
Rajasthan
Tuesday, September 27, 2022

Buy now

spot_img

आग्यो राज लुगायां को

काका-ताऊ ना भायां को
आग्यो राज लुगायां को ।|

कोंग्रेस का च्यारूं मेर सूं कर दिन्या है सफाया
गहलोत सरकार की कुर्सी का तोड़ नाख्या पाया

ना यो पराया जाया , और ना ही माँ का जाया को
आग्यो राज लुगायां को ॥

जनता अर पाणी का रुख न कोई जाण ना पायो
वोट दिन्या वसुंधरा नै ,माल गेहलोत को खायो

ना यो बाणया-बामण अर न ही राज है नायां को
आग्यो राज लुगायां को ॥

राजसत्ता कब किसी की, एक छत्र रह पायी है
जनता के करवट की कीमत हर किसी ने चुकाई है

मंदिर देवता साधू -सन्यासी, हिन्दू धर्म की गायां को
आग्यो राज लुगायां को ||

गजेन्द्र सिंह शेखावत

Related Articles

6 COMMENTS

  1. मंदिर देवता साधू -सन्यासी, हिन्दू धर्म की गायां को
    आग्यो राज लुगायां को
    जनतंत्र में यह तो होता ही है.,अच्छी रचना.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Stay Connected

0FansLike
3,501FollowersFollow
20,100SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles