पेन ड्राइव को बूट एबल लाइव लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम बनाएं

पेन ड्राइव  को बूट एबल लाइव लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम बनाएं


लिनक्स लाइव बूट एबल पेन ड्राइव के जरिए कहीं भी किसी भी कंप्यूटर में लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टाल किया जा सकता है तथा बिना इंस्टाल किए किसी भी विण्डो इंस्टाल्ड कंप्यूटर में इसके द्वारा लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम को इस्तेमाल करने का मजा भी लिया जा सकता है |कई बार कंप्युटर का सीडी रोम ख़राब होता है या आजकल मार्केट में जो छोटे नेटबुक आ रहे है उनमे सीडी रोम होता ही नहीं तब यह डिस्क इंस्टाल करने में बहुत काम आते है | मै उबुन्टू लिनक्स इस्तेमाल करता हूँ और उबुन्टू में अपने पेन ड्राइव को बूट एबल लाइव बनाने का बहुत आसान टूल मौजूद है | लेकिन यदि आप विण्डो का इस्तेमाल करते है और लिनक्स इस्तेमाल करना चाह रहे है तो लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की iso image सम्बंधित वेबसाइट से डाउनलोड कर अपने पेन ड्राइव को बूट एबल लाइव बना सकते है यह बहुत ही आसान है |

विण्डो में बूट एबल लाइव लिनक्स पेन ड्राइव बनाना

इसके लिए सबसे पहले आप इस सोफ्टवेयर को यहाँ से डाउनलोड करे | अपना पेन ड्राइव कंप्यूटर में लगाये और सोफ्टवेयर को रन करे सम्बंधित खाने भरते हुए ओके बटन दबाएँ बस ये सोफ्टवेयर अपने आप आपके पेन ड्राइव को बूट एबल लाइव बना देगा जिसकी सहायता से आप अपने मन पसंदीदा ऑपरेटिंग सिस्टम को किसी भी कंप्युटर पर चला सकते है |

उबुन्टु में पेन ड्राइव को बूट एबल लाइव बनाना

यदि आप उबुन्टु लिनक्स का प्रयोग करते है तो इसमें अपने पेन ड्राइव को बूट एबल बनाना और भी आसान है सबसे पहले लिनक्स की iso image डाउनलोड करे अब पेन ड्राइव को कंप्युटर में जोड़े और इस लोकेशन पर जाए

system > administration > usb startup disk creator

अपना पासवर्ड डालते ही युएसबी डिस्क क्रिअटर खुल जायेगा

अब Make Stratup Disk पर क्लिक कीजिए और कुछ ही देर में तैयार है आपका बूट एबल लिनक्स लाइव युएसबी ड्राइव |
नोट- १- पेन ड्राइव की क्षमता कम से कम 1Gb की होनी चाहिए |
२- मैंने यह प्रयोग सिर्फ उबुन्टु लिनक्स का बूट एबल लाइव डिस्क बना कर ही किया है |

9 Responses to "पेन ड्राइव को बूट एबल लाइव लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम बनाएं"

  1. ये भी खूब रही जानकारी। सच जानकारी पाने का अंत नही। वैसे हम तो ये चीजें करते अभी भी डरते है। और हाँ हमारी चाकलेट से भेज देना जी।

    Reply
  2. ‘नज़र’   August 1, 2009 at 12:38 pm

    बहुत पुरानी किन्तु रोचक विधि है, हिन्दी में प्रसारित करने का शुक्रिया!

    · चाँद, बादल और शाम

    Reply
  3. अद्भुत और उपयोगी जानकारी।

    Reply
  4. नरेश सिह राठौङ   August 1, 2009 at 2:04 pm

    अभी तो पेन डाईव खरीदी ही नही है । इस लिये नज़दीकी भविष्य मे इसे काम मे लेने का विचार नही होगा । आपके द्वारा दी गयी जानकारी बहुत लाभप्रद है ।

    Reply
  5. बढ़िया तरीक से आपने इसे बताया रतन जी.
    लेकिन मैंने पढ़ा है की इस विधि से उबंटू का प्रयोग करने पर उससे अच्छी परफार्मेंस नहीं मिलती.

    खैर. आपको जन्मदिन की बधाई 🙂

    Reply
  6. Suresh Chiplunkar   August 2, 2009 at 4:54 am

    ऐसा ही कोई तरीका Win-XP की बूटेबल सीडी या पेन ड्राइव बनाने का भी बता दीजिये भाई… XP आये दिन फ़ार्मेट करना पड़ता है… यदि कम्प्यूटर में चल रहे सभी ड्रायवरों की भी अपने आप एक सीडी बन जाये तो कितना मजा आ जाये ताकि झट से XP फ़ारमेट किया और सीडी से सारे ड्रायवर इन्स्टाल कर लिये और एक घण्टे में कम्प्यूटर फ़िर चालू… ऐसी कोई जुगाड़ बताओ भाई…

    Reply
  7. kshama   August 3, 2009 at 4:49 pm

    Ye badee upyukt jaankaaree dee aapne..! Shukriya..pahlee baar aapke blog pe..ab to ekhee aalekh padha..aur padhne hain..!

    Reply
  8. कुन्नू सिंह   October 14, 2011 at 8:27 am

    रतन जी,

    क्या कोए एसा ही OS है जिसे डायरेक्ट USB पर चला सकें और ज्यादा Resource भी नही ईस्तेमाल करे(जैसे Ubuntu Live CD, लेकीन ये बहुत समय लगाता है)

    ईस लेख के लिए धन्यवाद, अभी मैने ईस साफ्टवेयर के मदद से USB मे Small Linux डाल है, सायद यही काम कर जाए।

    कुन्नू।

    Reply
  9. ePandit   October 19, 2011 at 1:02 pm

    उबुंटू के साथ जो यूऍसबी डिस्क क्रियेटर आता है उससे मैंने बूटेबल पैन ड्राइव बनायी थी जिससे मेरी नेटबुक बूट नहीं हुयी फिर मैंने UNetBootin से ट्राइ किया और हो गयी थी। ऐसा मैंने दो-तीन बार करके देखा और पाया कि यूनेटबूटइन बेहतर है।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.