इंस्पेक्टर ताऊ और नशे में धुत एक आधुनिक मैडम

सब कामों में हाथ आजमाने के बाद अपने ताऊ को लगा कि क्यों ना पुलिस की इंस्पेक्टरी भी कर ली जाय| सो ताऊ लगा तैयारियों में बन गया पुलिस इंस्पेक्टर, देशी भाषा में कहें तो ताऊ थानेदार बन गया| कुछ महीनों की ट्रेनिंग लेने के बाद पुलिस ने ताऊ की समझदारी और मामले निपटाने में घाघपना देख ताऊ की ड्यूटी राजधानी में लगा दी, जहाँ ताऊ को शहर की सार्वजनिक यातायात प्रणाली की सुरक्षा व्यवस्था संभालनी थी| पुलिस भी जानती थी कि सार्वजनिक यातायात वाली परिवहन गाड़ी में कई सिरफिरे आते है जिनसे ताऊ जैसा थानेदार ही निपटने में सक्षम है| और ताऊ ने भी अपना ताऊपना दिखाते हुए अपनी ड्यूटी बड़ी शानदार तरीके से निभाई, क्योंकि ताऊ तो सिरफिरों को देखते ही भांप लेता और ताऊ के ताऊपने के आगे सिरफिरों की एक ना चलती|

लेकिन एक दिन ताऊ ने देखा सायबर पार्क के पास के सार्वजनिक परिवहन प्रणाली के स्टेशन पर नशे में धुत,शरीर पर ना के बराबर कपड़े पहने एक आधुनिका तीन महिला पुलिसकर्मियों से भीड़ रही थी और अपनी आधुनिक अंग्रेजी वाली गालियां के दम पर तीनों पुलिस कर्मियों पर भारी पड़ रही थी, बेचारी तीनों महिला पुलिसकर्मी उस अधनंगी, नशे में धुत आधुनिका के आगे बेबस नजर आ रही थी, आधुनिका उन्हें अपने रसुकों का हवाला देकर नौकरी से निकलवाने की धमकी भी दिए जा रही थी|

ताऊ ये सब थोड़ी देर देखता रहा फिर सोचा क्यों ना इस आधुनिका को सबक सिखा दिया जाए ताकि आगे से इसका दिमाग दुरुस्त रहे और नशे की हालात में सार्वजानिक स्थानों पर ना आये| सो इंस्पेक्टर ताऊ आधुनिका के पास गया और हाथ जोड़कर मुस्कराते हुए उसे बदतमीज, बेवकूफ के साथ ऐसी ऐसी गालियाँ देने लगा जिनसे आधुनिका का गुस्सा और भड़क गया और वो ताऊ को मारने के लिए भड़कते हुए टूट पड़ी, ताऊ ने मुस्कराते हुए, हाथ जोड़े जोड़े गालियाँ देना जारी रखते हुए पीछे हटना शुरू कर दिया और जहाँ स्टेशन के कैमरे नहीं होते वहां तक पीछे हटता रहा|

चूँकि ताऊ जानता था कि सारी हरकतें कैमरे रिकोर्ड करने लगे है सो ताऊ आधुनिका को भड़काते हुये नो कैमरा जोन में ले गया और वहां जाते ही ताऊ ने आधुनिका के थप्पड़ मारमार कर गाल लाल कर दिये, रही सही कसर उन तीनों महिला पुलिसकर्मियों ने लातें ठोक ठोक कर पूरी कर दी| इस तरह आधुनिका पीटने के बाद वापस स्टेशन पर आई और वहां कैमरों के आगे आते ही फिर ताऊ ने हाथ जोड़कर मुस्कराते हुये कहा – चली जा और इस तरह फिर यहाँ कभी मत आना वरना ऐसा ही फिर भुगतना पड़ेगा| उस वक्त तो आधुनिका ताऊ को कोसते हुए चली गई और दुसरे दिन उच्च अधिकारीयों को शिकायत कर दी|

अधिकारीयों ने ताऊ से पूछताछ की तो ताऊ ने चांटे मारने का मना करते हुये कहा कि हमने तो उसे हाथ जोड़कर अनुनय-विनय करते हुए खूब समझाया था आप लोगों को भरोसा ना हो तो वीडियो रिकोर्डिंग देख लीजिये| अधिकारीयों के एक जाँच दल ने वीडियो रिकोर्डिंग देखी जिसमें ताऊ हाथ जोड़े मुस्कराता हुआ आधुनिका को समझाता नजर आया चूँकि स्टेशनों पर होने वाली रिकोर्डिंग में आवाज तो रिकोर्ड होती नहीं, सिर्फ चित्र होते है सो चित्रों में साफ़ नजर आया कि इंस्पेक्टर ताऊ हाथ जोड़, बिना गुस्सा हुए मुस्कराते हुए आधुनिका मैडम को समझाने का प्रयास कर रहा है और मैडम ताऊ पर भड़कते हुए हमला करने को उत्सुक नजर आ रही है| सो अधिकारीयों ने मैडम की शिकायत को झूंठ करार देकर ताऊ के खिलाफ शिकायत को खारिज कर दिया साथ ही ताऊ की प्रशंसा भी की कि कैसे एक आधुनिक मैडम के गुस्से के आगे भी ताऊ ने सदासयता दिखाई और मैडम द्वारा गाली-गलौच के बावजूद अपनी उत्तेजना पर काबू रखा|
लेकिन ताऊ का ताऊपने वाला फार्मूला भुगतने के बाद उस मैडम ने कभी स्टेशन पर दुबारा किसी नियम का उलंघन नहीं किया|

डिस्क्लेमर : पोस्ट में किसी तरह की सच्चाई तलाशने का कष्ट ना करें!

2 Responses to "इंस्पेक्टर ताऊ और नशे में धुत एक आधुनिक मैडम"

  1. ब्लॉ.ललित शर्मा   June 19, 2014 at 7:35 am

    अपणा ताऊ भी कमाल का है 🙂

    Reply
  2. Sitaram Prajapati   June 20, 2014 at 5:57 am

    कमाल का ताऊ , आज ताऊ जैसे इंस्पेक्टर बहुत कम है …..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.