क्या आप भी regsvr.exe वायरस से परेशान है ?

पिछले कई दिनों से regsvr.exe नामक एक वायरस ने कंप्युटर जी की गति धीमी कर दुखी कर रखा था जिसे हटाने के लिए एक के बाद एक कई एंटी वायरस काम लिए लेकिन नतीजा वही ढ़ाक के तीन पात | नोर्टन और McAfee एंटी वायरस भी इस वायरस को हटाना तो दूर पकड़ ही नही सके | यह वायरस कंप्युटर की क्षमता का ७० से ८० % तक या कभी कभी १००% तक इस्तेमाल करना शुरू कर देता है जिससे अन्य कार्य करने पर कंप्युटर हेंग हो जाता है | यही नही १००% क्षमता का इस्तेमाल होने पर कंप्युटर का प्रोसेसर गर्म होकर ख़राब होने की भी आशंका बन जाती है | पहले पहल तो समझ ही नही आया कि अलग-अलग एंटी-वायरस सोफ्टवेयर से कंप्युटर को क्लीन करने के बाद भी कंप्युटर धीमे क्यो चल रहा है जब टास्क मेनेजर खोल कर देखा तब पता चला कि कंप्युटर जी की क्षमता का १०० % इस्तेमाल हो रहा है और टास्क मेनेजर की processes में देखने पर पाया कि regsvr.exe अप्लिकेशन सबसे ज्यादा क्षमता का इस्तेमाल कर रही है जैसे ही इस फाइल का प्रोसेस को बंद किया कंप्युटर जी अपने आप सही काम करने लग गए लेकिन कुछ ही देर बाद ये वायरस फ़िर सक्रीय हो कंप्युटर की गति धीमी कर देता है | पहले तो यह समझ ही नही आया कि ये कोई वायरस ही है या विण्डो की कोई अप्लेकाशन फाइल | आख़िर गूगल बाबा से पूछताछ से पता चला कि ये वायरस ही है और पेन ड्राइव के द्वारा आने वाला यह वायरस आसानी से जाने वाला नही है अतः गूगल बाबा की झोली से इस वायरस को हटाने के कुछ नुस्खे ढूंढे और यहाँ लिखे एक नुस्खे की सहायता से इस वायरस को निकालने का अभियान शुरू किया सारे स्टेप पार करने के बाद आखिरी स्टेप में सभी .exe फाइल डिलीट करने में डर लगा कि कही कोई काम की फाइल डिलीट ना हो जाए अतः समस्या फ़िर ज्यों की त्यों | आख़िर फ़िर गूगल बाबा की सहायता से इसे हटाने के regsvr.exe रिमूवल टूल ढूंढे और कई एंटी वायरस रूपी हथियार इस्तेमाल करने के बाद भी यह वायरस हटने का नाम ही नही ले रहा था लेकिन आखिरी कोशिश के तहत यहाँ से एक औजार मिला जिसकी सहायता से इस regsvr.exe नामक वायरस को हटाने में कामयाबी मिली | regsvr.exe से तो निजात मिल गई लेकिन अब जिस औजार का इस्तेमाल किया उसने अपने रंग दिखाने शुरू कर दिए अतः उसे भी बाहर का रास्ता दिखाना पड़ा | मेरी पिछली पोस्ट में तरुण ने अपनी टिप्पणी में सही कहा था कि नेट पर फ्री में मिलने वाली चीजे सोच समझ कर ही इस्तेमाल करनी चाहिए | फ्री में मिलने वाले सभी सोफ्टवेयर अच्छे नही होते | अब कंप्युटर जी की सुरक्षा के लिए एक अग्नि रेखा (Firewall) खींचने के आलावा McAfee को तैनात किया है देखते है ये व्यवस्था कब तक कंप्युटर जी की वायरस से सुरक्षा कर पाती है |
वैसे मेरे विचार से इन सब झंझट से छुटकारा पाने का एक ही उपाय है लिनक्स का इस्तेमाल जिसमे कम से कम वायरस का तो कोई झंझट नही | हालाँकि मैंने तो उबुन्टू लिनक्स इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है लेकिन बच्चे अभी फोटोशॉप,ड्रीमवीवर व कोरल ड्रो के चक्कर में विण्डो का मोह नही त्याग पा रहे है |

Reblog this post [with Zemanta]

11 Responses to "क्या आप भी regsvr.exe वायरस से परेशान है ?"

  1. नटवर सिंह राठौड़   February 22, 2009 at 3:28 am

    बहुत बढ़िया तकनीकी जानकारी, मेरा पीसी पर अभी ऐसी नौबत नही आई है ! पर आगे के लिए सहेज कर रखने योग्य जानकारी ! धन्यबाद

    Reply
  2. ताऊ रामपुरिया   February 22, 2009 at 4:24 am

    बहुत अच्छी जानकारी.

    रामराम.

    Reply
  3. Arvind Mishra   February 22, 2009 at 4:28 am

    आप तो पूरे कंप्यूटर विशारद हैं -शायद यह वाईरस मेरे पीसी में भी है देखता हूँ ! शुक्रिया !

    Reply
  4. सुशील कुमार छौक्कर   February 22, 2009 at 5:55 am

    सच पूछिए हम भी बहुत परेशान होते रहते है इन वायरसो से। और फिर फारमेट ही मार देते है। क्या करें और कुछ करना नही आता। हो सके तो हम जैसो के लिए कुछ जानकारीयाँ दीजिए जिससे इन मुसीबतों से छुटकारा मिल सके। और कौन सा एंटी वायरस ठीक रहता है। वैसे एक बात और पूछनी थी मान लो हमको लग रहा है कि कोई बायरस आ गया है पर एंटी बायरस ने नही पकडा फिर् कैसे पता लगाऐ।

    Reply
  5. Rahul kundra   February 22, 2009 at 7:08 am

    मुफ्त की हर चीज़ बुरी नही होती खासतोर पर इंटरनेट पर सस्ता रोये बार बार को इंटरनेट ने ग़लत साबित कर दिया है

    Reply
  6. अनुनाद सिंह   February 22, 2009 at 8:47 am

    मैं सम्प्रति ‘ ऑटोरन-जी’ (Autorun-G) नामक वाइर्स से परेशान हूँ। कोई कारगर उपाय बताइये।

    Reply
  7. Ratan Singh Shekhawat   February 22, 2009 at 9:15 am

    अनुनाद जी
    इस वायरस को हटाने के लिए समाधान करने का तरीका नीचे लिखे लिंक्स पर है |

    http://www.precisesecurity.com/blogs/2007/12/27/trojan-infautorun-g/
    http://uk.answers.yahoo.com/question/index?qid=20081118075820AA7ODgO

    Reply
  8. राज भाटिय़ा   February 22, 2009 at 11:02 am

    धन्यवाद भाई पिछले दिनो मै भी काफ़ी परेशान रहा था, फ़िर मुझ्र तो एक ही रास्ता दिखा, सी फारमेट,
    चलिये अगली बार आप का यह प्रयोग भी देखेगे.
    धन्यवाद

    Reply
  9. विष्‍णु बैरागी   February 22, 2009 at 1:38 pm

    यह नासमझ सुखी था। आपने भयभीत कर दिया। अब तक तो सब ठीक है। कोई तकलीफ हुई तो आपको याद करेंगे।

    Reply
  10. नरेश सिह राठौङ   February 22, 2009 at 3:39 pm

    मै इस टिप्पणी के माध्यम से पाठको को यह बता दू कि ज्यादातर वायरस हमारी लापरवाही कि वजह से ही आते है । हमेशा दूसरों के pc से data का अदान प्रदान करने से बचे । जब भी आप पेन ड्राइव या मेमोरी कार्ड आदि जोडते है तो पहले उसे स्केन कर ले उसके बाद ही उसे ओपेन करे । यदि कुछ गती मे परिवर्तन लगता है तो जैसा शेखावत जी ने बताया ” टास्क मैनेजर ” को ctrl+alt+del कमांड से खोल कर देखे कोइ अपरिचित फ़ाइल या प्रोग्राम चलता हुआ मिलेगा पहले उसे बन्द करे । उसके बाद अपने एन्टी वाइरस द्वारा उसे हटाये । porn content से हमेशा बचें । आपने जो यह काम कि जानकारी दी है उसके लिये बहुत बहुत धन्यवाद

    Reply
  11. Anonymous   February 25, 2009 at 5:33 am

    टास्कमेनेजर को खोलने पर यह नहीं खुल रहा है और बता रहा है कि यह डीशबाड किया गया है एडमीस्ट्रेशन ने इसे खोलने के लिये क्या किया जाये।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.