उबुन्टू लिनक्स कैसे इंस्टाल करें

उबुन्टू लिनक्स कैसे इंस्टाल करें

उबुन्टू लिनक्स कैसे इंस्टाल करें
लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में जानकारी न होने के कारण इसका इस्तेमाल बहुत ही कम हो पा रहा है | वायरस फ्री व मूल्य फ्री होने के बावजूद जानकारी के अभाव में लोग लिनक्स का इस्तेमाल करने से वंचित है | और महंगा विण्डो ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल करने को मजबूर है | मैंने Red Hat, Fedora, ubuntu आदि linux के ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल करके देखे जिनमे नए लोगो के लिए ubuntu linux ऑपरेटिंग सिस्टम मुझे इस्तेमाल करने में बहुत आसान लगा |

कम्पूटर में कोई भी ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल करने हेतु सबसे पहले चुना गया ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टाल करना होता है जो सबसे मुश्किल कार्य लगता है और इसके लिए ज्यादातर लोग हार्डवेयर इंजिनियर से यह काम करवाते है पर इन इंजीनियर्स में भी बहुत कम लोग है जो लिनक्स इंस्टाल करना जानते हो | जबकि ubuntu linux इंस्टाल करने में विण्डो एक्स पी. से भी ज्यादा आसान है | आइए आज जानते है ubuntu linux installation के बारे में | उबुन्टू को दो तरीके से इंस्टाल किया जा सकता है एक विण्डो एक्स.पी के अंदर और दूसरा सेपरेट यहाँ दुसरे तरीके पर चर्चा करते है | विण्डो एक्स.पी में इंस्टाल करने का तरीका यहाँ लिखा है |

१- सबसे पहले ubuntu की सी डी. सी डी रोम में डालकर कंप्यूटर को रिस्टार्ट कर सी डी रोम से रिबूट करावें |
२- सी डी रोम से रिबूट होते ही कंप्यूटर की स्क्रीन पर भाषा चुनने का आप्शन आएगा | जिसमे हिंदी सहित कोई भी मन पसंद भाषा चुनी जा सकती है
३- भाषा चुनकर आगे बढ़ते ही कुछ आप्शन मिलते है जिनमे से Install Ubuntu पर चटका लगाकर थोडा इंतजार करें |
४- कुछ इंतजार के बाद स्क्रीन पर Ubuntu Desktop दिखाई देगा व दुबारा भाषा चुनने का आप्शन मिलेगा यहाँ भाषा का चुनाव करने के बाद (Forward ) आगे बढे
५- अब टाइम जोन कोलकत्ता चुनने के बाद आगे बढे |
६- Key Bord layout चुने व आगे बढे |( forward पर चटका लगा कर )
७- अब Prepare Disk Space का पर्चा खुलेगा | विण्डो एक्स पी. को यथावत रखने के लिए Manual पर चेक का निशान लगते हुए आगे बढे |
८- अब कंप्यूटर के सभी Disk partition की सूची दिखाई देगी जिस डिस्क पार्टीशन में उबुन्टू लिनक्स इंस्टाल करना है उसे सलेक्ट कर Edit Partition पर चटका लगाएँ |
९- Edit Partition पर चटका लगाते ही एक पर्चा खुलता है जिसमे :
अ – Partition use as — में ext2 file system चुने |
ब- format the partition के आगे चेक बॉक्स में चेक का निशान लगाएँ |
स- choose mount point में / चुने |
और (forward) बढे |
१०- अब swap partition के बारे में पूछा जायेगा इसे continue पर चटका लगा आगे बढे |
११- आगे बढ़ते ही एक विण्डो खुलेगा जिसमे यूजर नाम व पासवर्ड आदि भरें | यदि auto log in चाहते है तो autometically log in पर चेक का निशान लगाते हुए आगे बढे |
१२- एक पर्चा Migrate Document & Settings के नाम खुलेगा जिसमे विण्डो एक्स.पी. के किस यूजर का document & setting का फोल्डर ubuntu में मिग्राते करना है पूछा जायेगा | सम्बंधित फोल्डर को सलेक्ट कर आगे बढे |
१३- Ready to install का पर्चा खुलेगा जिसमे Install पर चटका लगादे | थोडा इंतजार करें |
अब इंस्टालेशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है फाइल्स आदि कॉपी होते समय ८२% पर आकर एक बार इंस्टालेशन गति कुछ रुक सी जाती है लेकिन कृपया धेर्य रखे व लगभग २० मिनट तक इंतजार करे | इंतजार का समय कम ज्यादा आपके कंप्यूटर की गति से हिसाब से हो सकता है इस वक्त scanning the mirror की प्रक्रिया चल रही होती है जो कुछ समय लेती है | इस प्रक्रिया के बाद आगे इंस्टालेशन की प्रक्रिया स्वत: ही पूरी हो जाती है और कंप्यूटर को रिस्टार्ट करने को कहा जाता है |
कंप्यूटर रिस्टार्ट होते ही उबुन्टू की सी डी स्वत: ही बाहर निकल आती है | अब आगे उबुन्टू चलाने हेतु विण्डो एक्स.पी व उबुन्टू में से उबुन्टू सलेक्ट कर Enter दबा दे बस कुछ ही क्षणों में उबुन्टू लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम आपके कंप्यूटर के डेस्कटॉप हाजिर है | मजे के साथ नेट चलायें,गाने सुने या ओपन ऑफिस .ओआरजी में अपने ऑफिस का काम करें बिना किसी दिक्कत के ,बिना किसी वाइरस के डर के व बिना कोई ऑडियो वीडियो व अन्य ड्राईवर्स के इंस्टालेशन के |

उबुन्टू लिनक्स आप यहाँ से फ्री मंगवा सकते है

21 Responses to "उबुन्टू लिनक्स कैसे इंस्टाल करें"

  1. रंजन   June 19, 2009 at 5:04 pm

    बहुत मेहनत की शेखावत जी.. कुछ फुर्सत में ट्राई करतें है आभार..

    Reply
  2. ताऊ रामपुरिया   June 19, 2009 at 5:28 pm

    बहुत ज्ञानवर्धक जानकारी दी है आपने. पर अपना हाल तो आप जानते ही हैं.:) बहुत शुभकामनाएं आपको.

    रामराम.

    Reply
  3. गिरिजेश राव   June 19, 2009 at 5:32 pm

    हम तो मल्टीबूट इंस्टाल किए बैठे हैं- यानि एक ही कम्प्यूटर में ubuntu, fedora और windows. विश्वास कीजिए बच्चे और मैं उबुंतू ही प्रयोग करते हैं। विंडोज तो केवल इमरजेंसी के लिए है।

    न वायरस का झंझट और न बार बार हैंग होने का। अपने आप अपडेट होता रहता है।

    Reply
  4. Vivek Rastogi   June 19, 2009 at 5:57 pm

    अच्छी चीज बताई है जी आपने पर मेरे लेपटाप पर विस्टा है, और मेरे पास सीडी आ चुकी है उबुन्टू की, इस्तेमाल करके बताते हैं कि कितना अच्छा है। क्योंकि मैं पहले मेन्ड्रेक्स और रेडहेट लिनक्स उपयोग कर चुका हूँ।

    Reply
  5. राज भाटिय़ा   June 19, 2009 at 6:04 pm

    भाई बहुत मेहनत से आप ने लिखा है, हमे तो लेपटाप के संग ही सारा सिस्टम मिला था, ओर अब आदत भी पढ गई है, लेकिन इस उबटु की तारीफ़ बहुत सुनी है, अगली बार जब भी जरुरत पडी तो एक बार इस ऊबटु को जरुर जमायेगे.
    आप का धन्यवाद

    मुझे शिकायत है
    पराया देश
    छोटी छोटी बातें
    नन्हे मुन्हे

    Reply
  6. भाई रतन सिंह शेखावट जी।
    इस जानकारी के लिए आभार।

    Reply
  7. डॉ. मनोज मिश्र   June 20, 2009 at 2:59 am

    अच्छी जानकारी .आभार .

    Reply
  8. नरेश सिह राठौङ   June 20, 2009 at 6:29 am

    आपने यह पोस्ट लिख कर अंकुर जी के इस अभीयान को आगे बढ़ाया है । इस प्रकार की जानकारी के लिये हिन्दी ब्लोग जगत हमेशा आपका आभारी रहेगा । माईक्रोसोफ्ट की मोनोपली को खत्म करना भी जरूरी है ।

    Reply
  9. उन्मुक्त   June 20, 2009 at 12:02 pm

    मैं अपने डेस्कटॉप पर उबुन्टू का प्रयोग करता हूं और यह बेहतरीन है।

    Reply
  10. किन शब्दों में आपका शुक्रिया अदा करुँ, समझ नहीं आ रहा। पर इतना जरुर कहूँगा कि दिल से आपका शुक्रिया। सच आपने काफी मेहनत की हमारी खातिर। मैंने सब उतार लिया है। और जल्द ही इसको इंस्टोल भी कर लूँगा। पर जिस दिन करुँगा आपसे पूछकर ही करुँगा। और कुछ चीजें अनसुलझी है उन्हें भी दूर कर लूँगा जी आपसे पूछ कर।

    Reply
  11. Dev   June 21, 2009 at 5:14 pm

    आप सबको पिता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें …
    DevPalmistry

    Reply
  12. Science Bloggers Association   June 22, 2009 at 10:37 am

    जानकारी के लिए आभार।
    -Zakir Ali ‘Rajnish’
    { Secretary-TSALIIM & SBAI }

    Reply
  13. कैटरीना   June 23, 2009 at 12:05 pm

    अच्‍छी जानकारी।

    Reply
  14. RAJNISH PARIHAR   June 24, 2009 at 2:37 am

    bahut achhi jankari…aabhar…

    Reply
  15. अच्छी जानकारी

    Reply
  16. Sociologist Dr. Anil   December 20, 2010 at 6:34 am

    मैने लिनक्स इन्सटाल किया हू। कैफ़े से वाईन डाउनलोड करके लेकर गया घर पर आफ़लाईन इन्सटाल करने की कोशिस किया तो उसमे हजारो की संख्या मे फ़ाईल थी, कोई एसी फ़ाईल नही समझ मे नही आई जिसको क्लिक करने पर वाईन इन्सटाल हो जाये। डाउनलोड की गई फ़ाईल को इन्स्टाल की जाये, इसके संबंध में मेरा मार्गदर्शन करे।मेरा ई मेल है [email protected]
    अनिल गुहार
    बेतुल म.प्र.

    Reply
  17. उबुंतु की सीडी मैंने बहुत पहले से डाऊनलोड करके बना रखी है पर मैं विंडोज़ के पार्टीशन वही रखना चाहता था।आज इस लेख को ठीक से पढ़ कर समझ लिया है अब ट्रायल के लिए इसे अपने एक कंप्यूटर मे इन्स्टाल करके देखता हूँ यदि सफल रहा तो अपने सिस्टम पर भी इसे इन्स्टाल करूंगा।
    बहुत बहुत धन्यवाद इस जानकारी के लिए।

    सादर

    Reply
  18. बहुत बढ़िया जानकारी ?

    Reply
  19. बहुत बढ़िया जानकारी ?

    Reply
  20. VIKASH KUMAR GAUTAM   May 26, 2012 at 4:46 am

    good

    Reply
  21. विकास गुप्ता   November 5, 2012 at 7:10 pm

    तकनीकी जानकारी देती उपयोगी पोस्ट । आपकी इस पोस्ट से उबुन्टू लिनक्स इस्टांल करने का लालच लग रहा है जल्दी ही इसे इस्टांल करूँगा ।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.