ब्लॉग कमाने में कितना सहायक ? अनुभव और उदाहरण

ब्लॉग कमाने में कितना सहायक ? अनुभव और उदाहरण

ब्लॉग से कमाने वाले हर लेख का शीर्षक हर एक ब्लॉग लेखक को आकर्षित करता है| ब्लॉग से कमाई करने के कई तरीके विभिन्न ब्लॉगस पर विद्वान ब्लॉग लेखकों ने समय पर समय लिखें है| पर फिर भी आज सवाल वहीँ का वहीँ है कि क्या ब्लॉग से कमाया जा सकता है?
मेरा चार वर्ष का ब्लोगिंग अनुभव यही मानता है कि ब्लॉग से कमाया जा सकता है| पर कैसे? क्योंकि ब्लोगिंग से कमाने का सबसे आसान तरीका गूगल की विज्ञापन सेवा हिंदी ब्लॉगस पर अपने विज्ञापन पूरी तरह से नहीं दिखाती तो फिर ब्लॉग से कैसे कमाया जा सकता है ?

उत्तर:- हाँ! गूगल के विज्ञापन दिखाए बगैर कुछ ब्लॉगस मेरी नजर में है जो कमाई में सहायक बने हुए है आज उन्हीं ब्लॉगस के बारे में और ब्लॉग से कमाने के अपने अनुभव आपके साथ साँझा कर रह रहा हूँ|

१- सबसे पहले गूगल विज्ञापन द्वारा कमाने के विषय पर ही चर्चा करली जाय-

गूगल की विज्ञापन सेवा हिंदी भाषा को स्पोर्ट नहीं करने के चलते हिंदी ब्लॉगस पर इस सेवा के जरिये कमाने की संभावनाएं बहुत क्षीण है पर यदि यह स्पोर्ट करे और हिंदी ब्लॉगस पर भी यदि गूगल के विज्ञापन दिखाई देने लगे तभी कोई ज्यादा कमाई नहीं हो सकती|ये मेरा अनुभव है, मेरी कई वेब साईटस पर गूगल के विज्ञापन दिखते है फिर भी उनसे कमाई क्षीण है|

ब्लॉग से कमाई के मुद्दे पर मेरा अनुभव यही है कि ब्लॉग से हम सीधा तो नहीं कमा सकते पर हाँ ब्लॉग हमारे व्यवसाय को बढ़ाने में बहुत सहायक है और ब्लॉग के माध्यम से हम अपना व्यवसाय बढ़ा कर आसानी से अपनी कमाई बढ़ा सकते है|
ऐसे तीन ब्लॉगस के उदाहरण मैं आपके समक्ष प्रस्तुत कर रहा हूँ –

१- कुन्नू सिंह के कुन्नू ब्लॉग से तो आप सभी परिचित होंगे ही| इस ब्लॉग पर कुन्नू सिंह अक्सर तकनीकि जानकारियां देते रहते है अब तकनीकि जानकारी के लेख लिखने है तो तकनीकि के बारे में पढ़ना भी पड़ेगा और ऐसे तकनीकि लेख ब्लॉग पर परोसने के लिए तकनीकि ज्ञान हासिल करते करते कुन्नू सिंह ने वेब होस्टिंग व्यवसाय के बारे जाना और एक दिन उन्होंने अपनी वेब होस्टिंग सेवा की शुरुआत करदी| जो शुरू में सिर्फ उनके ब्लॉग के पीछे चली उनके पास होस्टिंग लेने वाले ज्यादातर उनके ब्लॉग पाठक ही थे| कुन्नूजी ने एक ब्लॉग लेखक के नाते जो प्रतिष्ठा बनाई वह उनके वेब होस्टिंग व्यवसाय में पूरी सहायक बनी|
आज कुन्नूजी अपनी उसी वेब होस्टिंग साईट से पढ़ाई के साथ साथ पांच अंको में कमाई कर रहे है जबकि उन्होंने कंप्यूटर सम्बन्धी कोई तकनीकि पढ़ाई,डिप्लोमा आदि नहीं किया जो सीखा वह सिर्फ ब्लोगिंग के चलते सीखा और वेब होस्टिंग व्यवसाय भी ब्लोगिंग के पीछे ही चला इसलिए मैं कह सकता हूँ कि कुन्नू सिंह आज जो वेब होस्टिंग से कमा रहे है वह सब उनके ब्लॉग की ही देन है|

२- रामबाबूसिंह का एलोवेरा प्रोडक्ट भी कभी आपकी नजर में जरुर आया होगा| इस ब्लॉग पर रामबाबू सिंह जी एलोवेरा के स्वास्थ्यवर्धक उन उत्पादों की जानकारी हिंदी में देते है जिन्हें वे बेचते है|
शुरू में जब रामबाबूजी ने अमेरिका की कम्पनी फॉरएवरलिविंग प्रोडक्ट के एलोवेरा उत्पाद बेचने शुरू किये तो उन्होंने अपने व्यवसाय को बढाने के लिए एक वेब साईट बनवाई| एक दिन वे मेरे पास हिंदी में लिखना सिखने आये ताकि हिंदी में एलोवेरा उत्पादों की जानकारी अपनी वेब साईट पर लोड कर सकें| इसी मुलाकात में मैंने उन्हें ब्लॉग बनाकर उस पर उत्पादों की जानकारी देने की सलाह दी चूँकि ब्लॉगस पर लिखा गूगल खोज में ज्यादा प्रस्तुत होता है इसलिए आपके उत्पादों के खोज परिणाम ज्यादा लोगों के सामने प्रस्तुत होंगे|

रामबाबूजी को सलाह जच गयी और मैंने तुरंत उन्हें एक ब्लॉग २९ नवंबर २००९ को बनाकर दे दिया जिस पर उन्होंने अपने उत्पादों के बारे में जानकारियां लिखनी शुरू की| और धीरे-धीरे उनके ब्लॉग पर एलोवेरा आदि खोजते कई विजिटर गूगल से पहुँचने लगे| थोड़े ही दिनों में रामबाबूजी के पास देशभर से उनके एलोवरा उत्पादों की जानकारी के लिए फोन आने लगे|जिनमे से उन्होंने कईयों को अपना डिस्ट्रीब्यूटर भी बनाया है और वे लोग लोग बखूबी रामबाबूजी की बिक्री बढ़ा रहे है|

आज भी रामबाबूजी के पास उनका ब्लॉग पढकर देशभर के ही नहीं विदेशों तक से फोन आते है|और बातचीत के बाद वे उत्पाद भी खरीदते है| ब्लॉग के माध्यम से उन्होंने अपने डिस्ट्रीब्यूटर सिंगापूर तक बना लिए है| रामबाबूजी आपसी बातचीत में स्वीकार करते है ब्लॉग पर एलोवेरा उत्पादों को पढकर उन्हें खरीदने वाले पाठकों के चलते उनकी कमाई दुगुनी हो गयी जिसका सारा श्रेय वे अपने ब्लॉग को देते है| पहले रामबाबूजी सिर्फ व्यक्तिगत तौर पर लोगों से संपर्क कर अपने उत्पाद बेचते थे पर अब ब्लॉग पढकर लोग उनसे संपर्क करते है इस तरह उनका श्रम भी बहुत बचता है|
अक्सर हम हिंदी ब्लॉग लेखक टिप्पणियों के मोहजाल में फंसे रहते है पर रामबाबू जी के ब्लॉग पर आपको नाम मात्र की टिप्पणियाँ देखने को मिलेगी पर वह ब्लॉग अपने ब्लॉगस्वामी की कमाई बढ़ाने में चुपचाप कार्यरत है|

३-अब कमाई वाले ब्लॉग का तीसरा उदाहरण है मेरा अपना यह ब्लॉग ज्ञान दर्पण| ज्ञान दर्पण कमाने में कितना सहायक है और मुझे आजतक ज्ञान दर्पण ने क्या दिया इसकी चर्चा अगली पोस्ट में|

28 Responses to "ब्लॉग कमाने में कितना सहायक ? अनुभव और उदाहरण"

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.