18.6 C
Rajasthan
Tuesday, November 29, 2022

Buy now

spot_img

जब भी दिवाली आती है…

जब जब ढलते मौसम में दिल पे वो शीत हवाएं चलती है |

मेरे प्यारे वतन , तेरी सुबह तेरी शाम मुझे बहुत रूला जाती है ||

फिर चमकती रात आई ले कर जलाने मेरे अरमानों की मशालें
तेरे दर से आने वाली ठंडी हवा इसकी तपश को मिटा जाती है |

वो कलाईयों में खनकती मचलती नयी नवेली दुल्हन की चूड़ियाँ

वो दिये लिए हाथो में यूँ अपने साजन की निगाहों में झांकती है ||

तब मेरी झुके नयनों के प्यालो में बसे मेरे वतन से दूर वो दिलदार
उसके फूल से लबो पे मचलती वो कहानियां अक्सर याद आती है |

एक वो भी दिवाली थी एक यह भी दिवाली है तुम पास थे कभी
अब रह गयी तुम्हारी यादें , संग संग तेरी जुदाई और मेरी तन्हाई है ||

लेखिका : कमलेश चौहान (गौरी)
कॉपी राईट : कमलेश चौहान (गौरी)

Jab Diwali aati hai,Dipawali,Happy diwali,Kamlesh chauhan,Poem by Kamlesh Chauhan

Related Articles

11 COMMENTS

  1. मैं नया ब्लॉगर हूँ और मेरा नाम यशवर्धन है । कृपया मेरे ब्लॉग "कविता संकलन " पर भी एक बार पधारे ।
    दिवाली की हार्दिक शुभकामनाये । ब्लॉग पता :-kavitasankalan.blogspot.com

  2. Apka Sbka Tahe Dil Se Dhanayvad. Us Per Ratan Shekhwaat Ji Jinhone Mere Hindi Novel" Saat Janam Ke Baad " Mai Rajputs aur Hindi Ki jaankari Mai Bahoot Sahayata Ki hai. Meri Hindi Bahoot Kazor Ho Chuki hai Lakin aap subki Hindi ko pad kar mere Shabad wapis aa rahe hai.

    Aap Sab Ko Diwali Ki Shub Kamnaye.
    Kamlesh Chauhan ( Gauri)

  3. दीपावली पर्व के अवसर पर आपको और आपके परिवारजनों को हार्दिक बधाई और शुभकामनायें

  4. America Mai Bas Kar Bhi Aapne Watan Se Mai Juda Nahi. Diwali Ki Shub Tyohaar Pe Hamara Man Apne sanskaaro Ko Bhula Nahi. Aap Sub Ko Diwali Ki Shub Kamanaye. Jagmagati Diwali Ki Raat Khushiya le Kar Ayye.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Stay Connected

0FansLike
3,584FollowersFollow
20,300SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles