कंप्यूटर बाजार : नेहरु प्लेस, नई दिल्ली

कंप्यूटर बाजार : नेहरु प्लेस, नई दिल्ली
दिल्ली के नेहरु प्लेस में देश का सबसे बड़ा कंप्यूटर बाजार है जहाँ नए व पुराने कंप्यूटर व उनके कलपुर्जों की थोक व खुदरा मूल्यों की हजारो दुकाने है इन दुकानों पर कंप्यूटर के सस्ते से सस्ते चाइनीज सामान सहित विभिन्न कम्पनियों के ब्रांडेड कंप्यूटर उत्पाद उपलब्ध है |
कंप्यूटर एम्पायर व कोस्ट टू कोस्ट कंप्यूटर जैसी कुछ दुकाने तो ऐसी है जहाँ खरीददारों का मेला लगा रहता है इन दुकानों पर अच्छी गुणवत्ता वाले कंप्यूटर उत्पादों की उपलब्धता के साथ इनका एक निर्धारित मूल्य रखने के कारण ये दुकाने खरीददारों की भीड़ से खचाखच भरी रहती है | यहाँ के सभी कंप्यूटर विक्रेता कंप्यूटर असेम्बल करने की सुविधा भी अपने ग्राहकों को देते है |

नए कम्प्यूटरों के साथ ही नेहरु प्लेस स्थित इस बाजार में पुराने कम्पूटरों की दुकाने भी बहुतायत में है जिन पर Dell , IBM , Compaq , HP , Samsang ,HCL आदि विभिन्न कम्पनियों के ब्रांडेड पुराने P-III ,P-IV कंप्यूटर बहुतायत में थोक व खुदरा मूल्य में उपलब्ध है | जिनका मूल्य कंफिगरेशन के हिसाब से बदलता रहता है आमतौर पर 40 GB Hard Disk , 256 DDR-1 Ram , CD Roam , व 1.5 से 1.8 गीगा प्रोसेसर वाला ब्रांडेड पुराना P-IV सी पी यु 4000/-रु. से 4500/-रु. के बीच मिल जाता है 15″ व 17″ क्रीम कलर बॉडी वाला मोनीटर क्रमश: 1500/- व 1700/- रु. में व ब्लैक कलर बॉडी का मोनीटर 1700/- 1800/- रु. में मिल जाता है |यही नहीं ये पुराने कंप्यूटर इतने अच्छे होते है कि खरीददार को इसमें कभी कोई दिक्कत नहीं आती |पिछले एक साल में मै अपने कई मित्रों को यहाँ से 20 के लगभग पुराने कंप्यूटर खरीदवा चूका अभी तक किसी को भी इनसे कोई दिक्कत नहीं आई |

पायरेटेड सोफ्टवेयर के मामले में तो मै नेहरु प्लेस बाजार को खान की संज्ञा दूंगा यहाँ हर दस कदम पर पटरी पर आपको पायरेटेड सोफ्टवेयर बेचने वाले सोफ्टवेयर सोफ्टवेयर की आवाज लगाते मिल जायेंगे | जिनसे आप कोई भी सोफ्टवेयर सी डी में 50/-रु. और डी वी डी में 100/- में कितने भी सोफ्टवेयर खरीद सकते है | विण्डो एक्सपी की पायरेटेड सी डी यहाँ खुले आम 50/-रु मूल्य में उपलब्ध है |

12 Responses to "कंप्यूटर बाजार : नेहरु प्लेस, नई दिल्ली"

  1. Rakesh Singh - राकेश सिंह   September 24, 2009 at 3:30 pm

    चलो भाई कभी दिल्ली आयेंगे तो नेहरु प्लेस का दिल्ली बाज़ार भी देख लेंगे |

    Reply
  2. राजीव तनेजा   September 24, 2009 at 5:03 pm

    बढिया जानकारी….

    वैसे कम्प्यूटर की एक अन्य मार्किट हमारे यहाँ वज़ीरपुर(अशोक विहार और शालीमार बाग के नज़दीक) भी है…यहाँ भी नए व पुराने सभी तरह के कम्प्यूटर मिल जाते हैँ

    Reply
  3. अंकुर गुप्ता   September 24, 2009 at 7:12 pm

    पायरेटेड साफ़्टवेयर? हम्म! वैसे इन्हे बाजार से खरीदना फ़िर भी महंगा है क्योंकि इंटरनेट पर तो ये मुफ़्त मिलते हैं. हां आपके पास ब्राडबैंड हो तो विंडोज एक्सपी क्या विस्टा और सेवेन सब डाउनलोड हो जाता है.

    Reply
  4. रंजन   September 25, 2009 at 3:59 am

    मुझे तो बहुत कन्फुजन होता है.. पता ही नहीं चलता कौन सही है और कौन फ्राड़… वैसे "कंप्यूटर एम्पायर व कोस्ट टू कोस्ट कंप्यूटर" ये कहाँ है..

    Reply
  5. RAJIV MAHESHWARI   September 25, 2009 at 5:30 am

    नेहरु प्लेस में देश का सबसे बड़ा कंप्यूटर बाजार ही नहीं है यह खाने -पिने का भी बड़ा बाजार है ……इस पर भी कुछ रोशनी डालिएगा ………रतन सिंह जी ….

    Reply
  6. ताऊ रामपुरिया   September 25, 2009 at 5:31 am

    बहुत बढिया जानकारी दी आपने.

    रामराम.

    Reply
  7. राज भाटिय़ा   September 25, 2009 at 7:48 am

    ना बाबा ना , एक बार हम ने यहां से कुछ हजार कि फ़िल्मे खरीदी थी एक नही चली….
    फ़िर नकली माल खरीद कर ही प्रयोग मै लाना है तो जो प्रोगाम चाहो आप उसे डाऊन लोड कर लो, अकुर गुप्ता की बात सही है.
    धन्यवाद इस सुंदर जान्कारी देने के लिये.

    Reply
  8. jayram " viplav "   September 25, 2009 at 5:14 pm

    – सीडी की बात तो नहीं कह सकता क्योंकि कभी खरीदी नहीं . हाँ दोस्त लोग वहीँ से लाते हैं . लेप्तो वहीँ से ख़रीदा है और अच्छा चल रहा है . बाज़ार से कम कीमत पर मिल जाती है और कुछ न कुछ ऑफर भी रहताहै

    Reply
  9. बड़ा सस्ता है। पर पहचान होनी चाहिये चीज की।
    हम तो जेनुइन विस्टा ले कर देर तक भजन करते हैं पूरी तरह सिस्टम गरमाने की! 🙂

    Reply
  10. प्रवीण जाखड़   September 26, 2009 at 5:01 pm

    रतन सा मैं 2005 में दिल्ली गया था। ऐसे पांच छह बाजारों को टटोला, एक दिन पूरा बिताया। दलालों से दलाल बनकर मिला। एक स्टोरी कर रहा था, जिसमें स्क्रैप में विदेशों से हमारे बंदरगाहों पर बल्क में आने वाले कंप्यूटर और उससे जुड़े बाजार की दलाली का सिस्टम उजागर किया था। यह रविवारीय के प्रथम पृष्ठ पर पूरा पेज की कवरेज हुई थी। मुझे यहां एक दलाल लगभग छह रुपए में मिलने वाल ब्लूटूथ, दस रुपए किलोग्राम में देने को तैयार हो गया था। सबूत हमेशा होना चाहिए, मैं एक किलो खरीद भी लाया था। उसमें पांच-सात सौ ब्लूटूथ कैप्सूल थे।
    यहीं पर मुझे एक लैप्टॉप 1200 रुपए में बेचने वाला भी मिला। जिसका जिक्र मंैने अपनी स्टोरी में किया था। उसे ब्लॉग पर नहीं लगा पाया हंू, क्योंकि उसकी पीडिएफ नहीं मिल पाई। अच्छा लगा इसे पढ़कर, वो यादें ताजा हो गई।

    Reply
  11. प्रवीण जाखड़   September 26, 2009 at 5:02 pm

    ब्लूटूथ छह सौ का है, छह प्रकाशित हो गया।

    Reply
  12. नरेश सिह राठौङ   October 1, 2009 at 1:32 am

    आज तक दिल्ली के नेहरू पैलेस मे जाने का मौका नही मिला है ,इसके बारे मे बहुत सुन रखा है कभी समय मिला तो जरूर जायेंगे ।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.