ऋषि पराशर की तपोभूमि : फरीदाबाद

ऋषि पराशर की तपोभूमि : फरीदाबाद

फरीदाबाद की अरावली पर्वत श्रंखला में स्थित प्रसिद्ध बड़खल झील के प्रवेश द्वार के पास ही उतर दिशा की और जाने वाली सड़क पर कुछ दूर जाते ही परसोन मंदिर का बोर्ड दिखाई देता है इस बोर्ड के पास से एक उबड़ खाबड़ पहाड़ी रास्ते से लगभग १.५ की.मी. की दुरी पार करते ही पहाडियों […]

अजमेर के संस्थापक चौहान राजा अजयपाल का मंदिर

अजमेर के संस्थापक चौहान राजा अजयपाल का मंदिर

Raja Ajaypal Mandir, Chauhan Raja Ajaypal Temple अजमेर से लगभग 10 किलोमीटर दूर अरावली पर्वतमाला की सुरम्य घाटी में अजयसर गांव के पास “अजोगंध महादेव मंदिर” नामक प्राचीन मंदिर स्थित है| ऐतिहासिक अजयमेरु नगर (अजमेर) के संस्थापक चौहान राजा अजयपाल का स्मृति रूपी यह प्राचीन मंदिर जो अजोगंध महादेव मंदिर के नाम से जाना जाता […]

प्राचीन गणेश्वर सभ्यता और चर्म रोग मुक्ति कुण्ड

प्राचीन गणेश्वर सभ्यता और  चर्म रोग मुक्ति कुण्ड

अपने गृह जिले सीकर की प्राचीन गणेश्वर सभ्यता (Ganeshwar Civilization) व गणेश्वर धाम (Ganeshwar Mahadev) के बारे में कई मित्रों से सुना था पर कभी वहां जाना नहीं हुआ. जबकि इस स्थान से छ: सात किलोमीटर दूर से बचपन से (सीकर-कोटपुतली-दिल्ली मार्ग) आना जाना रहता है, लेकिन इतने पास से गुजरने के बावजूद कभी यहाँ […]

शेखावाटी का माउंट : हर्षनाथ पहाड़

शेखावाटी का माउंट : हर्षनाथ पहाड़

इस माह कोई एक दशक बाद 15 दिन गांव में गुजारने को मिली छुट्टी के दौरान 6 अगस्त को गांव के पास स्थित लोसल कस्बे में बैंकिंग कार्य निपटाने के बाद वहीँ से बस पकड़ राजपूत युवा परिषद् के नव-नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष उम्मेद सिंह करीरी से मिलने सीकर आ गया, उम्मेद सिंह करीरी का कार्यालय […]

Jamvay Mata शेखावत, राजावत, नारुका कच्छवाहों की कुलदेवी

Jamvay Mata शेखावत, राजावत, नारुका कच्छवाहों की कुलदेवी

Jamvay Mata : ११ दिसंबर २०१२ को भानगढ़ जाते समय जमवा रामगढ़ बांध जिसका कभी जयपुर की प्यास बुझाने के लिए निर्माण किया गया था को पानी की कमी से सुखकर खुद प्यासे देख मन बहुत विचलित हुआ| वहां से आगे चलते हुए बांध की हालात और उसके जिम्मेदार प्रभावशाली लोगों द्वारा बांध के डूब […]

भानगढ़ का सच – क्या इस किले में भूत रहते है?

भानगढ़ का सच – क्या इस किले में भूत रहते है?

राजस्थान के भानगढ़ Bhangarh का उजड़ा किला व नगर भूतों का डरावना किले के नाम से देश विदेश में चर्चित है| इस किले की यात्रा के लिए अलवर व जयपुर से सड़क मार्ग द्वारा जाया जा सकता है रेल मार्ग से भी दौसा रेल्वे स्टेशन से उतर कर सड़क मार्ग से इस जगह पहुंचा जा […]

भूतों के भानगढ़ में सच का सामना

भूतों के भानगढ़ में सच का सामना

लगभग एक वर्ष से हिंदी ब्लॉग जगत के चर्चित ब्लॉगर ललित शर्मा के साथ राजस्थान में अलवर जयपुर के पास प्रसिद्ध भानगढ़ Bhangarh के भुतहा किले Ghost Fort की यात्रा पर चलने के कार्यक्रम पर चर्चा होती रही| ललित जी के साथ मैं भी इस चर्चित किले में जाने के लिए वर्षों से उत्सुक था […]

भक्तों की मनसा पूर्ण करती – मनसा माता

भक्तों की मनसा पूर्ण करती – मनसा माता

उदयपुर (शेखावाटी) तहसील मुख्यालय से लगभग 25 किलोमीटर दूर खोह- गुड़ा ग्राम के पहाड़ो में मनसा माता Mansa mata पीठ स्थित है| मनसा देवी का मंदिर जीवन के तामझाम व कोलाहल से दूर प्रकृति माँ की गोद में “खोह“ से लगभग 5 किलोमीटर दूर पश्चिम दिशा में गगन चुंबी पर्वत श्रंखलाओं की गोद में विराजमान […]

ढाणी

ढाणी

गांव के बाहर खेतों में बने घर को राजस्थान में ढाणी कहकर पुकारा जाता है खेती करने वाले किसान अपने खेतों की अच्छी तरह से देखभाल करने के लिए अक्सर खेत में बनी ढाणियों में ही रहते है |ये ढाणियां वहां रहने वाले की आर्थिक स्थिति के हिसाब से पक्के मकानों की या फिर कच्चे […]

ऋषि पराशर की तपोभूमि : फरीदाबाद

ऋषि पराशर की तपोभूमि : फरीदाबाद

फरीदाबाद की अरावली पर्वत श्रंखला में स्थित प्रसिद्ध बड़खल झील के प्रवेश द्वार के पास ही उतर दिशा की और जाने वाली सड़क पर कुछ दूर जाते ही परसोन मंदिर का बोर्ड दिखाई देता है इस बोर्ड के पास से एक उबड़ खाबड़ पहाड़ी रास्ते से लगभग १.५ की.मी. की दुरी पार करते ही पहाडियों […]