स्व. भैरोंसिंह जी शेखावत की जयंती 23 अक्टूबर को, सर्वधर्म प्रार्थना सभा में आप सभी आमंत्रित

स्व. भैरोंसिंह जी शेखावत की जयंती 23 अक्टूबर को, सर्वधर्म प्रार्थना सभा में आप सभी आमंत्रित

राजस्थान के सबसे ज्यादा लोकप्रिय मुख्यमंत्री रहे, पूर्व उपराष्ट्रपति स्व. श्री भैरोंसिंह शेखावत, जो राजस्थान में जन मानस में बाबोसा के नाम से प्रसिद्ध है, की 94 वीं जयन्ती के अवसर पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया जायेगा| स्व. श्री भैरोंसिंह शेखावत के दोहिते और युवा भाजपा नेता अभिमन्यु सिंह राजवी के अनुसार 23 […]

रानी पद्मिनी ने करवाया था सर्जिकल स्ट्राइक, खिलजी को दिया था धोखे का जबाब

अलाउद्दीन खिलजी जब चितौड़ दुर्ग को सैनिक ताकत से फतह नहीं कर सका, तब उसने कपट का सहारा लिया। खिलजी ने राणा को सन्देश भेजा कि- मेरा इरादा आपसे लड़ने का नहीं है। मैं तो आपसे दोस्ती करने का इच्छुक हूँ। आपके पास सिंहल द्वीप से लाये पांच मुझे दे दें तो मैं चला जाऊंगा […]

क्या प्रतिहार क्षत्रिय वंश की उत्पत्ति गुर्जर जाति से हुई है !

क्या प्रतिहार क्षत्रिय वंश की उत्पत्ति गुर्जर जाति से हुई है !

प्रतिहार क्षत्रिय वंश का इतिहास वृहद व गौरवशाली रहा है| आठवीं शती के मध्य भारतीय राजनीति में व्याप्त शुन्यता भरने में जो राजनैतिक शक्तियां सक्रीय हुई, उनमें प्रतिहार क्षत्रियों की महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है| गुर्जर देश पर शासन करने के कारण इतिहासकारों ने प्रतिहारों को गुर्जर प्रतिहार लिख कर भ्रम पैदा कर दिया और वर्तमान […]

ऋषि पराशर की तपोभूमि : फरीदाबाद

ऋषि पराशर की तपोभूमि : फरीदाबाद

फरीदाबाद की अरावली पर्वत श्रंखला में स्थित प्रसिद्ध बड़खल झील के प्रवेश द्वार के पास ही उतर दिशा की और जाने वाली सड़क पर कुछ दूर जाते ही परसोन मंदिर का बोर्ड दिखाई देता है इस बोर्ड के पास से एक उबड़ खाबड़ पहाड़ी रास्ते से लगभग १.५ की.मी. की दुरी पार करते ही पहाडियों […]

अब मोबाइल एप के माध्यम से इतिहास पढ़े

अब मोबाइल एप के माध्यम से इतिहास पढ़े

मोबाइल पर इन्टरनेट के बढ़ते प्रयोग ने जहाँ सूचना और तकनीकी क्षेत्र में क्रांति की है वहीं मोबाइल में एंट्रोयिड नामक ऑप्रेटिंग सिस्टम आया है तब से मोबाइल ने कंप्यूटर, लेपटॉप और टैब को पीछे छोड़ दिया| इसका सबसे बड़ा कारण एंट्रोयिड ऑप्रेटिंग सिस्टम का ऑपन सोर्स होना है| यह एंट्रोयिड ऑप्रेटिंग सिस्टम के ऑपन […]

राजस्थानी भाषा के मूर्धन्य साहित्यकार इतिहासकार सौभाग्यसिंह जी शेखावत नहीं रहे

राजस्थानी भाषा के मूर्धन्य साहित्यकार इतिहासकार सौभाग्यसिंह जी शेखावत नहीं रहे

राजस्थानी भाषा के मूर्धन्य साहित्यकार इतिहासकार सौभाग्यसिंह जी शेखावत का आज उनके पैतृक निवास ग्राम भगतपुरा में सुबह छ: बजे निधन हो गया| 22 जुलाई 1924 को सीकर जिले के भगतपुरा गाँव में जन्में श्री शेखावत पिछले छ: दशक से राजस्थानी प्राचीन साहित्य के उद्धार और अनुशीलन के लिए शोध कर्म से जुड़े रहे थे […]

कैलीफोर्निया में दिवाली के पर्व पर शहीदो को दी गई सलामी

कैलीफोर्निया में  दिवाली के पर्व पर शहीदो को दी गई सलामी

लेखिका : कमलेश चौहान (गौरी) कैलिफ़ोर्निया : अक्सर भारत में हमारे भाई बहन सोचते है कि शायद विदेश में रहने वाले अपने वतन को अपनी सरे ज़मीं को भूल गए है। लेकिन कहते है अपने जन्मभूमी को वह इन्सान कभी नहीं भूल सकता जिसे अपने पुर्वजो से अच्छे संस्कार मिले हो। भला कोई जन्म देने […]

राजा मानसिंह द्वारा वाराणसी में निर्मित मानमंदिर व घाट

राजा मानसिंह द्वारा वाराणसी में निर्मित मानमंदिर व घाट

Man Mandir Varansi आमेर के राजा मानसिंह ने देश के विभन्न भागों में बहुत से मंदिरों का निर्माण करवाया व कई मंदिरों का जीर्णोद्धार करवाया, हरिद्वार में हर की पौड़ी बनवाई| अपने इसी धार्मिक क्रियाकलापों की श्रंखला में राजा मानसिंह ने वाराणसी में एक मंदिर और घाट बनवाया, जिसे मानमंदिर के नाम से जाता है […]

योग क्यों?

योग क्यों?

Why Yoga? सुखी जीवन की सबसे बड़ी आवश्यकता है- स्वस्थ शरीर ! और हो भी क्यों न, स्वास्थ्य के साथ ही सभी सुख जुड़े हुए हैं। जीवन सुखमय बना रहे-यही प्रयत्न हर क्षण होना चाहिए। हम स्वस्थ हैं तो कठिनाई भी सरलता से हल हो जाएगी। इसके विपरीत स्वस्थ न होने पर बड़ा सुख भी […]

Major Ranveer Singh Shekhawat (Shaury Chakra)

Major Ranveer Singh Shekhawat (Shaury Chakra)

Shaury Chakra Vijeta Major Ranveer Singh Shekhawat 19 फरवरी 1982 : 21 सिक्ख रेजीमेंट के चालीस जवान तीन ट्रकों में मणिपुर राज्य के उखरुल क्षेत्र में पहुंची अपनी रेजीमेंट में शामिल होने के लिए, इम्फाल से 34 किलोमीटर दूर, नामथिलोक नामक स्थान के पहाड़ी रास्ते से आगे बढ़ रही थी| सेना की इस टुकड़ी के […]

1 2 3 22