जाने – प्रतिहार राजपूतो को क्यों कहते है गुर्जर-प्रतिहार या ऐसा ही कुछ और

जाने – प्रतिहार राजपूतो को क्यों कहते है गुर्जर-प्रतिहार या ऐसा ही कुछ और

भारत के महान साम्राज्यों में प्रतिहारों का भी एक बड़ा साम्राज्य रहा है। इसकी एक विशेषता रही है कि जैसे मौर्य, नागवंश तथा गुप्तवंश आदि थे उनके विरोधी दुश्मन एक तरफ ही थे जिससे उपरोक्त वंशों के शासकों को अपने राज्यों तथा साम्राज्य के एक ही दिशा में शत्रु का सामना करना पड़ता था जिसमें […]

इतिहास व महापुरुष हथियाने की कोशिश

इतिहास व महापुरुष हथियाने की कोशिश

भारत में सदियों से जाति व्यवस्था रही है। सभी जातियां अन्य दूसरी जातियों का सम्मान करते हुए, एक साझी संस्कृति में प्रेमपूर्वक रहती आई है। देश के महापुरुष भले किसी जाति के हों, वे सबके लिए आदरणीय व प्रेरणास्त्रोत होते थे। लेकिन आजादी के बाद देश के नेताओं ने एक तरफ जहाँ जातिवाद खत्म करने […]

प्रतिहार क्षत्रिय सम्राट मिहिर भोजदेव

प्रतिहार क्षत्रिय सम्राट मिहिर भोजदेव

सम्राट रामभद्र के बाद उसके पुत्र भोजदेव को प्रतिहार साम्राज्य का सम्राट बनाया गया| यह रामभद्र की रानी अप्पादेवी का पुत्र तथा भगवती का उपासक था| भोजदेव को मिहिर तथा आदिवराह भी कहते है| सम्राट भोजदेव के राज्य सिंहासन ग्रहण करने के साथ ही सबसे पहला कार्य बिखरे हुए साम्राज्य को वापस सुसंगठित करने का […]

रानी पद्मावती फिल्म के प्रोमो में झलका भंसाली को पड़े थप्पड़ का असर

रानी पद्मावती फिल्म के प्रोमो में झलका भंसाली को पड़े थप्पड़ का असर

चितौड़ की रानी पद्मावती पर बनी विवादित फिल्म का प्रोमो जारी हो चूका है। जिसे सोशियल मिडिया पर करोड़ों लोग देख चुके है। ज्ञात हो रानी पद्मावती पर बनी इस फिल्म का श्री राजपूत करणी सेना ने तीव्र विरोध किया था। करणी सैनिकों ने जयपुर के जयगढ़ में फिल्म की शूटिंग के दौरान के फिल्म […]

क्या प्रतिहार क्षत्रिय वंश की उत्पत्ति गुर्जर जाति से हुई है !

क्या प्रतिहार क्षत्रिय वंश की उत्पत्ति गुर्जर जाति से हुई है !

प्रतिहार क्षत्रिय वंश का इतिहास वृहद व गौरवशाली रहा है| आठवीं शती के मध्य भारतीय राजनीति में व्याप्त शुन्यता भरने में जो राजनैतिक शक्तियां सक्रीय हुई, उनमें प्रतिहार क्षत्रियों की महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है| गुर्जर देश पर शासन करने के कारण इतिहासकारों ने प्रतिहारों को गुर्जर प्रतिहार लिख कर भ्रम पैदा कर दिया और वर्तमान […]

राजा भी रहते थे साम्प्रदायिक तत्वों के निशाने पर

जिस तरह से आज देश की सरकारें कट्टरपंथी साम्प्रदायिक तत्वों के निशाने पर रहती है, ठीक उसी तरह रियासतकाल में राजा भी इन कट्टरपंथी साम्प्रदायिक तत्वों के के निशाने पर रहते है| वह बात अलग है कि उस काल में हिन्दू राजा आज की तरह साम्प्रदायिक राजनीति व किसी समुदाय का तुष्टीकरण नहीं करते थे| […]

मुगल राजपूत वैवाहिक सम्बन्धों का सच-2

आमेर के शासकों पर व्यंग्य के तौर पर प्रचलित बातें कि आमेर वालों ने मुगलों को बेटियां देकर राज किया, पर भरोसा कर इतिहासकारों ने अकबर, जहाँगीर आदि की शादी आमेर राजघराने से होने की बातें लिख दी। जबकि आमेर राजघराने ने मुगलों से कोई वैवाहिक रिश्ता नहीं किया। नायला के ठाकुर फतेहसिंह जी चाम्पावत […]

मोदी से पहले इस महाराजा ने चलाया था स्वच्छता अभियान

मोदी से पहले इस महाराजा ने चलाया था स्वच्छता अभियान

स्वच्छता अभियान को लेकर देश के सभी अख़बारों, न्यूज चैनलों में चर्चाएँ व बड़े बड़े विज्ञापन दिखने आम है|  लेकिन क्या आपको पता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छता अभियान चलाने वाले पहले व्यक्ति नहीं है| मोदी से पहले भी इस देश में स्वच्छता अभियान चले है|  जयपुर में वर्षों पहले तत्कालीन रियासती सरकार द्वारा […]

सती प्रथा पर सदियों पहले रोक लगा दी थी इस महाराजा ने

सती प्रथा पर सदियों पहले रोक लगा दी थी इस महाराजा ने

दिवराला सती प्रकरण के बाद तत्कालीन कांग्रेस सरकार सती प्रथा निवारण कानून बनाकर श्रेय लेने की कोशिश की कि उन्होंने इस गलत परम्परा को समाप्त करने के लिए कानून बनाये है| हालाँकि सरकार द्वारा श्रेय लूटने के इस कृत्य की राजस्थान विधानसभा में तत्कालीन विपक्ष के नेता व पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोंसिंह जी ने हवा निकालते […]

अपने राजाओं से असीम प्यार करती थी उनकी प्रजा

दिखने के यह विरोधाभास सा लग सकता है, लेकिन सत्य वास्तव में यही है कि क्या पुराने युग में और क्या नए युग में, सत्ता और शक्ति का आधार जनसाधारण ही रहा है|

अपने राजाओं से असीम प्यार करती थी उनकी प्रजा

राजाओं की राजशाही व्यवस्था हो या लोकतांत्रिक हो, सफलता से शासन वही कर पाया है जिसे जनता ने चाहा है| इतिहास उठाकर देखलें जनविरोधी शासन चाहे राजा का हो या लोकतांत्रिक जनता ने उसे उखाड़ फैंका है| ईसा पूर्व पाटलिपुत्र का राजा धनानंद इतना शक्तिशाली था कि विश्व विजय की कामना पर निकला सिकन्दर भी […]