ज्ञान दर्पण पर “चमत्कारी बुलेट बाबा” (ओम बना) की मेहरबानी

ज्ञान दर्पण पर “चमत्कारी बुलेट बाबा” (ओम बना) की मेहरबानी

ज्ञान दर्पण पर मैंने 6 March 2009 को एक पोस्ट लिखी थी “जहाँ मन्नत मांगी जाती है मोटरसाईकिल से”| इस पोस्ट को लिखने के लिए मुझे ओम बना (बुलेट बाबा) के बारे में जानकारी जुटानी थी और उनके बारे में जानने के लिए जोधपुर-पाली (अहमदाबाद हाइवे) मार्ग पर उनके स्थान से ज्यादा बढ़िया जगह क्या हो सकती थी| सो मैं fab.2009 के आखिरी हफ्ते में अपनी जोधपुर यात्रा के समय एक दिन जोधपुर-पाली मार्ग स्थित ओम बना के पवित्र स्थान पहुंचा| वहां देखा मन्नत मांगने वालों की लंबी लाइन लगी थी| मैंने वहां उपस्थित उनके कुछ गांव वालों से ओम बना (स्व.ओम सिंह राठौड़) के बारे में व उनके इस पवित्र स्थान के बारे जानकारी जुटाई, कुछ अपने मोबाइल से फोटो खींचे ताकि ब्लॉग पोस्ट में सजाये जा सकें|

ये सब करने के बाद सोचा अब क्यों न ओम बना को प्रणाम कर लोगों की तरह कुछ मन्नत मांगी जाय| प्रणाम करने के बाद मैं सोच पड़ गया कि क्या माँगा जाए ? क्योंकि मैं कभी किसी मंदिर में या तो जाता ही कम हूँ और कभी चला भी गया तो माँगा नहीं जाता जैसे लोग हर मंदिर में कुछ मांगने जाते है| खैर … ओम बना को प्रणाम कर मैंने ओम बना से अनुरोध किया कि-

“हे ! बुलेट वाले बाबा ! मैं ज्ञान दर्पण पर आपके बारे में एक लेख लिखने जा रहा हूँ बस आप तो अपने परिचय वाले उस लेख को हिट करवा देना बस, हमारी तो यही मन्नत है और हां लेख हिट होने के बाद कभी इधर आने का मौका मिला तो आपको धन्यवाद ज्ञापित करने जरुर आयेंगे|

खैर.. बात आई गयी हुई| पर जब भी ब्लॉग डेशबोर्ड के स्टेट व्यू में पेज व्यू के आंकड़े देखता हूँ तब लगता है वाकई बुलेट बाबा “ओम बना” ने ज्ञान दर्पण पर उस पोस्ट को हिट करने के लिए मांगी गयी वो मन्नत पुरी की है और कर भी रहे है|
बुलेट बाबा पर लिखे लेख में गूगल खोज परिणामों से तो उनके बारे में गूगल खोज करते हुए बहुत से पाठक आते ही है| दूसरे लेख पढ़ने आये पाठक भी “जहाँ मन्नत मांगी जाती है मोटरसाईकिल से” लेख जरुर पढते है यही कारण है कि ज्ञान दर्पण पर आजतक लिखे लेखों में यह लेख सबसे ज्यादा पढ़ा गया है और पढ़ा जा रहा है|

यही नहीं पिछले दिनों दिल्ली में महाराणा प्रताप भवन में हुए एक सामाजिक कार्यक्रम में एक बंधुवर से मुलाकात हुई वे मुझे ज्ञान दर्पण से ही जानते थे बताने लगे कि – एक दिन उन्होंने इन्टरनेट पर “ओम बना” के बारे में सर्च किया तो आपका ज्ञान दर्पण मिला और उसके बाद मैं ज्ञान दर्पण का नियमित पाठक बना और तब से आपको जनता हूँ|

“जहाँ मन्नत मांगी जाती है मोटरसाईकिल से” लेख के पढ़े गए आंकड़ों पर एक नजर –

ये लेख लिखे जाने से लेकर आजतक पढ़ा गया “41282” बार–

पिछले एक महीने में यह लेख पढ़ा गया “5215” बार—

पिछले सात दिनों में ये लेख पढ़ा गया “1066” बार—-

पिछले चौबीस घंटों में यह लेख पढ़ा गया “186” बार—

नोट- ये आंकड़े 5 July 2012 सुबह 6.30 बजे तक के है|
चित्र को बड़ा देखने के लिए उस पर क्लिक करें|

इस लेख के पढ़े गए आंकड़ों को देखकर और गूगल से “ओम बना” के बारे में खोज करते आने वाले पाठकों की संख्या देखकर आप इसे चमत्कार माने या ना माने पर वेब साईट ऑप्टिमाइजर SEO के हिसाब से “ओम बना” शब्द वेब साईट पर ट्रैफिक बढ़ाने वाला एक शानदार कीवर्ड जरुर है 🙂

Om bana, om bana temple, bulet baba,om banna story in hindi

20 Responses to "ज्ञान दर्पण पर “चमत्कारी बुलेट बाबा” (ओम बना) की मेहरबानी"

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.