31.3 C
Rajasthan
Sunday, October 2, 2022

Buy now

spot_img

एक छोटा सा विचार जीवन बदल देता है

एक कुम्हार मिट्टी को लोथकर उससे धुम्रपान के शौकीनों के लिए चिलम बनाने की सोच रहा था कि मिट्टी का वह लोथड़ा जो उसके हाथ में चाक पर चढ़ने को तैयार था बोल पड़ा और कुम्हार से पूछने लगा कि वह मेरा क्या बनायेगा?

कुम्हार ने उसे बताया कि वह उसकी चिलम बनाने जा रहा है और कुम्हार ने उससे चिलम बनाने का कार्य शुरू कर दिया| लेकिन चाक चलाते चलाते कुम्हार का अचानक विचार बदल गया और उसने उस मिट्टी के लोथड़े की चिलम की जगह सुराही बना दी|

मिटटी का वह लोथड़ा जो अब सुराही की शक्ल में बदल गया था ने फिर कुम्हार को पूछा कि- तुम मुझे चिलम बनाने वाले थे तो सुराही कैसे बना दिया?

कुम्हार ने जबाब दिया- मैं चला तो था तुझे चिलम बनाने को ही, पर बनाते बनाते मेरा विचार बदल गया और मैंने तुम्हें सुराही बना दिया|

तब सुराही बनी मिट्टी ने कहा – एक छोटा सा विचार जीवन को एकदम से बदल देता है| अब देखो तुम मुझे चिलम बनाने वाले थे, यदि मैं चिलम बनता तो नित्य पता नहीं कितने लोग मेरे अन्दर बदबूदार तम्बाकू, गांजा आदि भरकर उनका सेवन करते और अपना स्वास्थ्य ख़राब कर कालकलवित होते| मुझे इसका कारण बनता पड़ता और जीवन भर इस बदबूदार परिस्थिति में पड़ा रहना पड़ता, लेकिन तुम्हारे छोटे से विचार ने मेरी तक़दीर बदल दी, मेरा जीवन एकदम बदल दिया| अब मेरे अन्दर जल भरा जायेगा और मैं उसे शीतलता देकर उस जल को पीने वालों की जीवन भर सेवा कर परमार्थ का कार्य करता रहूँगा| यह शीतल जल मुझे भी शान्ति देगा और पीने वालों की भी प्यास बुझायेगा|

इस तरह तुम्हारे एक विचार ने मेरा जीवन बदल दिया|

Related Articles

5 COMMENTS

  1. सुन्दर और सार्थक प्रसंग। आभार।। आपको सपरिवार नववर्ष 2015 की हार्दिक शुभकामनाएँ। सादर … अभिनन्दन।।

    नई कड़ियाँ :- इंटरनेट और हमारी हिन्दी

    दिसम्बर माह के महत्वपूर्ण दिवस और तिथियाँ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Stay Connected

0FansLike
3,505FollowersFollow
20,100SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles