Home Tech Tips उबुन्टू लिनक्स : मोबाइल फ़ोन से इन्टरनेट कैसे जोड़े

उबुन्टू लिनक्स : मोबाइल फ़ोन से इन्टरनेट कैसे जोड़े

11

उबुन्टू इंस्टाल करने के बाद ब्रोडबैंड इन्टरनेट बिना किसी कॉन्फिगरेशन के चालू हो जाता है लेकिन यदि आप अपने मोबाइल से लिनक्स में इन्टरनेट चलाना चाहते है तो थोडी सी कॉन्फिगरेशन करनी पड़ेगी जबकि विण्डो एक्सपी में संबंधित मोबाइल का पीसी सोफ्टवेयर इंस्टाल करना पड़ता है | लिनक्स में यह बहुत आसान है आईये आज इसी पर चर्चा करते है |
१- सबसे पहले system (तंत्र)-Preferences(वरीयता) -network connections पर क्लिक करे एक विण्डो खुलेगी

२- जोड़े पर चटका लगाये फिर एक विण्डो खुलेगी

३- आगे पर चटका लगाये

४-अपना मोबाइल सेवा प्रदाता का नाम चुने और आगे बढे

५- लागू करे पर चटका लगते ही कार्य पूरा हो गया अब जहाँ नेटवर्क कनेक्शन का आइकन दिखाई दे रहा है उस चटका लगाये आपके सामने दो आप्शन होंगे १- वायर्ड नेटवर्क २- मोबाइल ब्रोडबैंड . जिसमे मोबाइल ब्रोड बैंड को चुन ले बस अब आपका नेट आपके मोबाइल से चलने लगेगा |

11 COMMENTS

  1. रतन सिंग जी म्हारा काम को कांई होयो भुल ग्या के, म्हारी तो यो ही समझ मे को्नी के उबुन्टू कांई है, कई दिना सु नाम जरुर पढ रह्यो हुं। राम-राम

  2. रतन जि,

    क्या आप जानते हैं की ब्लागर पर अपना डोमेन कैसे डाल सकते हैं

    मै वर्डप्रेस ईस्तेमाल नही करना चाहता।

  3. ललित जी मुझे आपका मेल आई डी नहीं मिल रहा इसलिए आपको मेरा जबाब नहीं पहुँच रहा अब आपके ब्लॉग पर टिप्पणी के जरिए संपर्क कर रहूँ आपकी समस्या तो मै टीमवीवर से ऑनलाइन ही सुलझा दूंगा |

  4. कनेक्सन को सलेक्ट करके उसे एडिट कर सकते है | जैसे की मेरे यहाँ पर जो उबंटू का वर्जन है उसमे रिलायंस का नाम नहीं है | मैंने एयरटेल को सलेक्ट कर कनेक्सन बना लिया और बाद में उस कनेक्सन को एडिट कर दिया जहा apnलिखना पड़ता है वहा rcomnet नेट लिख दिया और मेरा रिलायंस का कनेक्सन बन गया | आप भी इस प्रकार apn लिख कर नया कनेक्सन बना सकते है |

  5. रतन जी, मेरे पास एयरसेट का 98 का मंथली नेट प्‍लान है जिससे मैं मोबाईल में ही गूगल रीडर से पोस्‍ट पढ़ने का कार्य बखूबी कर पा रहा हूं, किन्‍तु मैं उबंटू 10.10 में एयरसेल (नोकिया 5233 टचस्‍क्रीन)पाकेट इंटरनेट आपके बतलाये पद्धति से भी चला नहीं पा रहा हूं, जबकि विंडोज 7 में वह चल रहा है। इसी तरह बीएसएनएल ब्राडबैंड भी कनेक्‍ट नहीं हो पा रहा है, सारे अंग्रेजी पोस्‍ट व आंसर छान मारे और उसी प्रकार से प्रयोग कर चुके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Exit mobile version