Sher Singh Rana कैसा झंडा बनाना चाहता

Sher Singh Rana आजकल हरियाणा में राष्ट्रवादी परिवर्तन यात्रा निकाल रहा है| राणा की इस यात्रा को राजपूत बहुल गांवों में अच्छा ख़ासा जनसमर्थन भी मिल रहा है| खासकर राजपूत युवाओं में Sher Singh Rana को लेकर अच्छा ख़ासा क्रेज है और यही कारण है राणा का वे अपने गांवों में बड़ी गर्मजोशी व गाजेबाजे के साथ स्वागत करने में जुटे हैं| अपनी हर सभा में शेरसिंह राणा राजपूतों को अपना झंडा बनाने की बात कहते है और समझाते है कि राजपूतों को अपने झंडे की जरुरत क्यों है ? उसके फायदे क्या हैं और उसका स्वरूप कैसा होगा|

आपको बता दें Sher Singh Rana ने राष्ट्रवादी जनलोक पार्टी के नाम से एक राजनैतिक पार्टी का पंजीकरण कराया है और उसे वह राजपूतों की राजनैतिक पार्टी बनाने की चाहत रखते हैं| राणा राजस्थान में बहुजन समाज पार्टी का उदाहरण देते हैं कि – राजस्थान में बसपा के पांच विधायक है जिनमें दलित कोई नहीं, फिर भी राज्य में कांग्रेस को समर्थन देने के बदले मायावती ने पिछले वर्ष 2 अप्रेल को देश व्यापी बंद के दौरान दलितों पर दर्ज हुए मुकदमें हटवा लिए, जबकि उसके सभी विधायक सामान्य जातियों के हैं यही नहीं बसपा विधायक दल का नेता राजेन्द्रसिंह गुढा साँवराद प्रकरण में अपने साथियों के मुकदमें नहीं हटवा सका लेकिन उसी के दम पर मायावती ने अपना काम करवा लिया| राणा कहते हैं यही है झंडे का कमाल| यहाँ झंडा बसपा का था सो बसपा का काम हुआ|

Sher Singh Rana आगे कहते है ठीक इसी तर्ज पर राजपूतों का झंडा होना चाहिए, विधायक का चुनाव भले ही हमारी टिकट पर किसी अन्य जाति का कोई भी व्यक्ति लड़े, फायदा हमारा ही होगा| यात्रा के लिए हरियाणा को ही क्यों चुना के जबाब में राणा ने बताया कि हरियाणा में राजपूत होने के बावजूद गलत परिसीमन के चलते उनकी गिनती नहीं दर्शाई जाती और हर दल उनके साथ पक्षपात करता है अत: यह यात्रा राजपूतों को राजनैतिक तौर पर जागरूक करेगी ताकि उन्हें राज्य की राजनीति में उचित प्रतिनिधित्व मिल सके|

Sher Singh Rana क्या चाहते है वह आप ऊपर वीडियो में भी सुन सकते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.