चिट्ठाजगत के 20 शीर्ष ब्लॉग और उनकी अलेक्सा रेंक

चिट्ठाजगत की सक्रियता सूची देख आज कोतुहल जगा कि देखा जाये चिट्ठाजगत के शीर्ष २० सक्रीय ब्लोग्स की अलेक्सा रेंक क्या है | अलेक्सा.कॉम किसी भी वेब साईट पर आने वाले पाठकों (ट्राफिक) के आधार पर रेंक तय करती है | अलेक्सा रेंक में १००००० अंकों से नीचे की संख्या अच्छी मानी जाती है | तो आईये देखते है चिट्ठाजगत के २० शीर्ष सक्रीय ब्लोग्स पर ट्राफिक का आंकड़ा अलेक्सा.कॉम की नजर से

1-उड्डन तश्तरी :- 5,36,790
2- मानसिक हलचल :- 3,02,774
3- ताऊ .इन :- 4,33,521
4- फुरसतिया :- 4,96,788
5- हिंदी युग्म :- 1,49,330
6- मोहल्ला :- 8,43,914
7- छींटे और बौछारें :- 6,90,245
8- दीपक भारतीय की शब्द पत्रिका :-37,47,346
9-दीपक भारतीय की शब्दलेख पत्रिका :-51,17,599
10- चिटठा चर्चा :- 1,82,339
11- मेरा पन्ना :- 5,44,698
12- दीपक भारतीय का चिंतन :- 49,21,065
13- लोक संघर्ष :- 22,84,754
14- भड़ास :- 4,20,490
15- शब्दों का सफ़र :- 7,94,762
16- अजदक :- 11,08,257
17- रचनाकार :- 9,87,164
18- कबाड़खाना :- 7,99,042
19- ज्ञान दर्पण :- 2,89,139
20- क़स्बा :-5,95,507
उपरोक्त रेंक ०९जन २०१० रात १० बजे से ११ बजे के बीच जांची गयी है |

आज के युग का अमृत है एलो वेरा जेल

23 Responses to "चिट्ठाजगत के 20 शीर्ष ब्लॉग और उनकी अलेक्सा रेंक"

  1. ललित शर्मा   January 10, 2010 at 3:28 am

    अलेक्सा रेंक में १००००० अंकों से नीचे की संख्या अच्छी मानी जाती है,

    रतन सिंग जी, संख्या नीचे की या उपर की, कृप्या जानकारी दें

    राम-राम

    Reply
  2. निर्मला कपिला   January 10, 2010 at 3:33 am

    सभी को बहुत बहुत बधाई। धन्यवाद्

    Reply
  3. Ratan Singh Shekhawat   January 10, 2010 at 3:36 am

    ललित जी
    अलेक्सा में संख्या जो नीचे की होती है वह आगे मानी जाती है उपरोक्त ब्लोग्स की अलेक्सा रेंक के आधार पर "हिंदी युग्म" सबसे आगे है और "चिट्ठाचर्चा" दुसरे नंबर पर

    Reply
  4. डॉ. मनोज मिश्र   January 10, 2010 at 3:41 am

    अच्छी चर्चा.

    Reply
  5. राजीव तनेजा   January 10, 2010 at 4:24 am

    इसका मतलब हिन्दी के लिए अभी बहुत कुछ करना बाकी है

    Reply
  6. Udan Tashtari   January 10, 2010 at 4:33 am

    इसको सुधारने के उपाय भी बतायें तो काम आये!!

    Reply
  7. Ratan Singh Shekhawat   January 10, 2010 at 4:52 am

    अलेक्सा रेंक सुधारने के लिए अपने ब्लॉग पर ट्रेफिक बढ़ाने हेतु कुछ उपाय ज्ञान दर्पण की इस पोस्ट में बताये गए

    https://www.gyandarpan.com/2009/08/how-increasing-alexa-rank.html

    Reply
  8. अल्पना वर्मा   January 10, 2010 at 5:01 am

    सभी को बहुत बहुत बधाई!

    Reply
  9. बस कछुआ चाल चलते रहा जाये!

    Reply
  10. Ghost Buster   January 10, 2010 at 5:38 am

    प्रस्तुतिकरण कन्फ़्यूजिंग है. रैंक के आधार पर ही लिस्टिंग कीजिये तो सबको आसानी से समझ आये. यानि हिंद युग्म पहले स्थान पर और चिट्ठा चर्चा दूसरे स्थान पर …. इस तरह.

    Reply
  11. संगीता पुरी   January 10, 2010 at 5:52 am

    सबों को बहुत बधाई .. अलैक्‍सा रैंकिंग में मेरा ब्‍लॉग भी अधिक पीछे नहीं .. पर नियमित लेखन और पाठकों की संख्‍या में इजाफा के बावजूद मेरा गूगल पेज रैंक 3 से घटकर 2 पर आ गया है .. इसे कैसे सुधारा जा सकता है ??

    Reply
  12. डॉ महेश सिन्हा   January 10, 2010 at 6:22 am

    इसका मुख्य कारण है मुट्ठीभर लोगों का होना हिन्दी जगत में

    Reply
  13. डॉ महेश सिन्हा   January 10, 2010 at 6:24 am

    एक व्यक्ति के कई ब्लॉग शामिल हैं जबकि रंकिंग बहुत पीछे है ?

    Reply
  14. Suman   January 10, 2010 at 8:24 am

    nice

    Reply
  15. ताऊ रामपुरिया   January 10, 2010 at 9:30 am

    बहुत बढिया जानकारी दी आपने.

    रामराम.

    Reply
  16. राज भाटिय़ा   January 10, 2010 at 9:57 am

    मस्त है जी, बाकी सब को बधाई

    Reply
  17. नरेश सिह राठौङ   January 10, 2010 at 11:03 am

    हम तो रेंक के चक्कर में पड़ते ही नहीं है |

    Reply
  18. dhiru singh {धीरू सिंह}   January 10, 2010 at 1:10 pm

    number ka khel hi to ladvata hai

    Reply
  19. खुशदीप सहगल   January 10, 2010 at 3:46 pm

    शेखावत जी,
    मैंने आज रात नौ बजे अलेक्सा पर अपने ब्लॉग deshnama.blogspot की रैंकिग चैक की तो इंटरनेशनल रैंकिंग 3,75,150 और इंडियन रैंकिंग 34,114 आई…आप इंटरनेशनल के साथ इंडियन रैंकिग भी दें तो और बढ़िया रहेगा…

    जय हिंद…

    Reply
  20. Anil Pusadkar   January 10, 2010 at 5:03 pm

    सभी को बहुत बहुत बधाई।

    Reply
  21. shikha varshney   January 10, 2010 at 6:46 pm

    sabhi ko bhaut bhaut badhai

    Reply
  22. सूर्य गोयल   January 23, 2010 at 7:45 am

    बहुत अच्छी जानकारी दी आपने. अच्छे रैंक पाने वालो सहित आप भी मेरी बधाई स्वीकार करे. मेरी गुफ्तगू में भी आपका स्वागत है. http://www.gooftgu.blogspot.com

    Reply
  23. Yash   August 26, 2010 at 5:53 am

    अलेक्सा के रैंकिंग मुलतः सही नहीं होते हैं आप में से कितने लोग हैं जो अलेक्सा का टूलबार इन्टरनेट एक्सप्लोरर, फ़ायरफ़ॉक्स या अन्य वेब ब्राउजर में प्लगइन के रूप में जोड़ते हैं। http://en.wikipedia.org/wiki/Alexa_Internet इस पॄष्ठ पर जो जानकारी है उससे आपका भ्रम समाप्त हो जाएगा कि अलेक्सा की रेटिंग सार्थक है। अलेक्सा केवल अपने टूलबार के उपयोक्ताओं के आधार पर रैंकिग प्रदान करता है सही ट्रैफिक मीटर की तरह नहीं, इसलिए इसके परिणामों पर विश्वास नहीं किया जाता है।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.