17.2 C
Rajasthan
Tuesday, November 29, 2022

Buy now

spot_img

हुडील.कॉम : एक गांव की वेब साईट

अंतरजाल पर भटकते हुए आज एक गांव की वेब साईट मिली | देश के लगभग सभी शहरों के अपने कई कई पोर्टल है लेकिन गांवों पर पोर्टल अभी बहुत दूर की बात है लेकिन आज एक गांव की वेब साईट देखकर लगा कि गांव वासियों ने भी इन्टरनेट जैसी महत्वपूर्ण सूचना तकनीकी का उपयोग करते हुए गांवों की जानकारी देती वेब साईट बनाकर इस क्षेत्र में भी शहरो का अनुशरण करने का आगाज कर दिया है |
हुडील गांव मेरे गांव भगतपुरा से थोडी ही दुरी पर एक पहाड़ी के पास स्थित है इस गांव के कई लड़के मेरे स्कूल के सहपाठी थे इस गांव में कई बार जाना भी हुआ अतः इन्टरनेट पर इस गांव की वेब साईट देखकर मेरा ख़ुशी के साथ रोमांचित होना लाजिमी ही था सो लिंक पर चटका लगा पहुँच गए http://www.hudeel.com पर |
वेब साईट काफी सिंपल बनाई हुई है लेकिन प्रयास बहुत अच्छा है इस साईट में जहाँ इस गांव के संस्थापकों के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी गई है वही शेखावत वंश और शेखावाटी के प्रवर्तक महाराव शेखा जी के इतिहास प्रसिद्ध घाटवा युद्ध जिसकी रणभूमि का हुडील गांव भी हिस्सा था का विस्तार से जिक्र किया गया है | वेब साईट की फोटो गैलरी में गांव के चित्रों के साथ एक ग्रामीण महिला सुप्यार कँवर के घर हुई एक विदेशी जोड़े की शादी के चित्र भी लगे है |
आजकल हुडील गांव विदेशी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र भी बनता जा रहा है उम्मीद है यह वेब साईट हुडील को विदेशी पर्यटन के मानचित्र पर स्थापित करने में सहयोग करेगी |
हुडील स्थित विदेशी पर्यटकों की पसंदीदा होटल फतह विलास के बारे में जानने के लिए यहाँ चटका लगाएँ |

Related Articles

23 COMMENTS

  1. मैंने देखा और पढा है .. अपनी टिप्‍पणी भी दर्ज कर आयी हूं .. हिन्‍दी ब्‍लाग जगत में ऐसे अन्‍य ब्‍लोगों की जरूरत है !!

  2. वेबासइट सुन्दर है। एक सार्थक प्रयास हैं जिसे आगे बढ़ाने की ज़रूरत है।

  3. रतन सा बहुत ही सुंदर खोज। मैंने इस वेब को देखा वाकई अच्छी और सोबर तो बनाई ही हुई है हमारे शेखावाटी की पारंपरिक और जीवन शैली की ओर भी ध्यान खींचती है। कल टिप्पणी देना चाह रहा था, लेकिन जिस कंप्यूटर पर बैठा था वहां किसी भी ब्लॉग पर टिप्पणी करना बैन था, इसलिए देरी के लिए क्षमा चाहता हंू। शेखावाटी की ऐसी ही नई-नवेली चीजों, खोजों, प्रतिभाओं के बारे में बताते रहें।

    आपकी इस पोस्ट को पढऩे के बाद मुझे भी शेखावाटी पर लिखने का मन कर रहा है। बस एक आध दिन में आपके सामने होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Stay Connected

0FansLike
3,584FollowersFollow
20,300SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles