31.7 C
Rajasthan
Saturday, October 1, 2022

Buy now

spot_img

अब घर में ही घोटो और पीवो

गांव के बाहर एक बाबा जी का आश्रम था बाबा जी भांग का नशा करते थे अतः आश्रम में नित्य भांग घोटने का कार्य होता रहता था | गांव के कुछ निट्ठले युवक भी भांग का स्वाद चखने के चलते रोज बाबा जी के पास चले आया करते थे | इनमे से कुछ युवक भांग का नित्य सेवन करने के कारण भांग के नशे के आदि हो चुके थे अतः वे रोज भांग पीने के चक्कर में बाबा जी के आश्रम पर पहुँच ही जाते फलस्वरूप बाबा जी का भांग का खर्च बढ़ गया जिसे कम करने के लिए बाबा जी ने निश्चय कर लिया था |

एक दिन उनका एक एसा चेला जीवा राम जो भांग के नशे का आदि हो चूका था हमेशा की तरह आश्रम पहुंचा | आश्रम का दरवाजा बंद देख जीवा ने बाबा जी को आवाज लगाई |
जीवा :- बाबा जी ! बाबा जी !! दरवाजा खोलिए |
बाबा जी :- अरे कौन ?
जीवा :- बाबा जी ! मै जीवो !
बाबाजी :- बेटा ! अब घर में ही घोटो और पीवो |

मुफ्त का माल समझ सेवन करने वाले ऐसे ही आदि हो जाते है अतः मुफ्त के माल का सेवन करने में भी मितव्यता बरतनी चाहिए |

Related Articles

14 COMMENTS

  1. wahh bahut achha Ratan Singh Ji.

    रतनसिंह जी आपने जाटों की दुखती हुई रग पर हाथ रखा है। जाट आज की तारीख में शिक्षा के क्षेत्र में बहुत आगे हैं, लेकिन ऐसी शिक्षा किस काम की, जो संस्कार विहीन हो। अगर आप साक्षर हैं, पढ़े-लिखे हैं, तो आप अपना, अपने परिवार का और अपने समाज का अच्छा या बुरा समझ सकते हैं। लेकिन…. (log on – http://jujharujat.blogspot.com/2009/11/blog-post.html?showComment=1258273714154#c7864400390827945270

  2. बिलकूल सही, अपनी मेहनत से खरीदा समान ही हमारे लिये बहुत मुल्यवान होता है और मुफ्त मे मिलने वाले समान कि किमत ना लेने वाला करता है और ना ही देने वाला।

  3. रतन सिग जी, जब आपकी पोस्ट आई थी तो घोटणे लगे थे(नेट बंद) अब जाके माल तैयार हुआ है, आओ पधारो पहली धार की है-स्वागत है।

  4. हा हा हा हा अरे ये पोस्ट तो मजेदार निकली तो भांग के पौधे भी लगा ही डालें । ताकि मेहमानों की खातिरदारी जरा झूमझाम के की जाए । व्हाट एन आयडिया सर जी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Stay Connected

0FansLike
3,505FollowersFollow
20,100SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles